लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (BSP) अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने कहा कि उत्तर प्रदेश की तरह उत्तराखंड में भी मुस्लिम समाज के लोगों ने सही विकल्प चुनने में चूक की जिसके चलते लोगों की नाराजगी के बावजूद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर्वतीय राज्य में दोबारा सरकार बनाने में सफल हो गयी। मायावती ने रविवार को यहां उत्तराखण्ड के पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक कर चुनाव संबंधी तथ्यों की समीक्षा की। 

यह भी पढ़ें- BJP के चुनाव जीतने पर मुन्नवर राना ने छोड़ दिया यूपी, जानिए अब कहां गए

उत्तराखण्ड में बसपा को दो सीटें मिली है तथा पार्टी का वोट प्रतिशत तीसरा सबसे अधिक 4.9 रहा है। उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश की तरह उत्तराखण्ड में भी सत्ताधारी भाजपा को हराने के लिए जी-जान तो काफी लगाया परन्तु खासकर मुस्लिम समाज के लोगों ने भी सही विकल्प चुनने में चूक की, जिस कारण भाजपा के खिलाफ गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी तथा इनके अहंकारी व निरंकुश रवैये के विरूद्ध लोगों में जबरदस्त नाराजगी के बावजूद तथा लोगों के नही चाहते हुए भी इसका सीधा लाभ दोबारा से भाजपा को मिल गया। 

यह भी पढ़ें- शेन वॉर्न की मौत के बाद बड़ा खुलासा! काउंसलर ने खोले कई ऐसे राज

उन्होने भरोसा दिलाया कि जो भी कमियां पार्टी संगठन के कार्यों में नजर आई हैं उन्हें दूर करके आगे बढऩे का प्रयास लगातार जारी रखना है। उन्होने कहा कि यह भी याद रखना है कि धनबल से लैस उनके राजनीतिक विरोधी गंदी निगेटिव पॉलिटिक्स तथा साम, दाम, दण्ड व भेद आदि अनेकों हथकण्डों में महारत रखते हैं। वे दूसरों को गलत साबित करके ही खुद को अच्छा बन जाने को ही गुड गवरनेन्स समझकर जनता को गुमराह करने का प्रयास करते रहते है और इसीलिए पार्टी के अब तक के प्रयास काफी उनके हिसाब से संघर्ष में सही साबित नहीे हो पा रहे है, जिसके लिए फिर से कमर कसने की जरूरत है।