कालिम्पोंग दो नंबर ब्लॉक के मंगसोंग 35 धुरा में लूटपाट के लिए सहदेव राई (54) नामक व्यक्ति की हत्या कर दी गई। इनकी पत्नी का आरोप है कि घर में नौ दिनों से रह रहे एक रिश्तेदार नीमा शेर्पा ने ही इस घटना को अंजाम दिया है। घर से 80 हजार रुपये से ऊपर नकद और सोने की एक अंगूठी गायब है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

पति को नाश्ता देकर काम पर गर्इ थी पत्नी
बताया गया कि घर में सहदेव राई पत्नी कांछी माया राई के साथ रहते थे। इनके दोनों बेटे कामकाज के सिलसिले में सिक्किम में रहते हैं। बहू भी बाहर थी। कांछी माया ने बताया कि नीमा कई दिनों से आकर रह रहा था। सुबह पति व नीमा को नाश्ता देकर वह चाय बागान में काम करने चली गईं। पति ने उसे सिक्कम जाने के लिए दो सौ रुपये दिए थे। जब वह 11 बजे वापस आई तो घर का कमरा खून से लथपथ था। अपने पति को आवाज लगाई, लेकिन घर से कोई जबाव नहीं मिला। जब कमरे में गई तो वह दंग रह गई।

वापस आने पर मिली खून से लथपथ पति का लाश
अपने पति को खून से लथपथ हालत में देखकर वह बेहोश हालत में गिर पड़ी। पूजा घर में रखी अलमारी भी गिर कर खाली हालत में पड़ा हुई थी। आलमारी दरवाजा टूटा था। उसमें रखे नकद रुपये सहित गहने गायब थे। घटना की जानकारी आस पास के लोगों को दी गई, तब एक महिला ने नीमा को घर से हाथ में कुछ एक सामान लेकर दूर से देखने की बात बताई। घटना के बाद से स्थानीय युवकों ने नीमा की काफी तलाश की, पर वह नहीं मिला। इसके बाद घटना की जानकारी पुलिस को दी गई।

जानकारी मिलने पर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस
जानकारी मिलने के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। मृतक के सिर एवं गले के पास चोट के निशान है। घटना को अंजाम देने वाला धारदार हथियार घर से थोड़ी दूर पर मिला। पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए कालिम्पोंग जिला अस्पताल भेज दिया है।

होने वाली थी छोटे बेटे का शादी
कांछी माया ने बताया कि नीमा शेर्पा अक्सर उनके घर आया-जाया करता था। वह खुद चाय बागान में काम करती हैं। अगले माह छोटे बेटे की शादी होने के कारण घर में सामान की खरीदारी के लिए रुपये रखा थे और अंगूठी बनवाकर रखी गई थी।