आगामी 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारियों के एक राजनीतिक दल जोड़-तोड़ में जुटे हैं तो वही जुबानी जंग भी मानसून के बीच यूपी की सियासी तपिश को और बढ़ा रही है. इसी बीच मशहूर शायर मुनव्वर राना ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में बड़ा ऐलान किया.

उन्होंने कहा कि अगर ओवैसी की वजह से योगी आदित्यनाथ दोबारा सूबे के मुख्यमंत्री बने तो मुनव्वर राना ये सूबा छोड़कर चले जाएंगे. ओवैसी के यूपी में चुनाव लडऩे पर मुनव्वर राना ने कहा है कि ओवैसी और बीजेपी ऐसे दो पहलवान हैं जो सिर्फ दूसरों को दिखाने के लिए लड़ रहे हैं ताकि वोटों का ध्रुवीकरण हो सके और भाजपा को फायदा हो.

राना ने कहा कि अगर यूपी के मुसलमानों में जरा भी अक्ल होगी तो वो कभी ओवैसी को वोट नहीं देंगे और अगर मुसलमान ओवैसी की तरफ जाते हैं तो बीजेपी की सरकार बनने के बाद योगी आदित्यनाथ दूबारा सूबे के मुख्यमंत्री बनते है तो मैं मुनव्वर राना उत्तर प्रदेश छोड़कर चला जाऊंगा. क्योंकि मैं ये मान लूंगा कि अब ये सूबा मुसलमानों के रहने के लायक नहीं बचा. मुनव्वर राना ने पिछले दिनों एटीएस की बड़े ऑपरेशन के बाद पकड़े गए दो अलकायदा के आतंकियों के पकड़े जाने पर भी सवाल खड़े किए.

शायर राना ने कहा है कि जिन लड़कों को आतंकवादी बताया जा रहा है वो इतने गरीब हैं जो बकायदा जिंदगी जी नहीं सकते. उनको अलकायदा से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है और मामूली से प्रेशर कुकर को बम बताया जा रहा है. मुझे डर है कि मैं भी पाकिस्तान मुशायरे के लिए जाता रहता और पिछले दिनों प्रेशर कुकर खरीद कर लाया हूं तो कही एटीएस मुझे भी आतंकवादी और तालिबानी समझकर ना उठा ले जाए.

मुनव्वर राना ने ये भी कह दिया कि जनसंख्या नियंत्रण की बात करने वाली सरकार को मैं ये भी कहना चाहता हूं कि मुसलमान 8 बच्चे इसलिए पैदा करते हैं. क्योंकि उनको डर है कि उनके 2 बच्चों को आतंकवादी बना के मार दिया जाएगा. दो कोरोना से मर जाएंगे तो कोई मां-बाप की लाश को कब्र तक पहुंचाने के लिए तो जिंदा रहे.