भारत मशहूर शायर मुन्नवर राना ने महर्षि वा​ल्मीकी को तालिबानी बता दिया है जिसके बाद अब उनकी मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। रामायण रचयिता महर्षि वाल्मीकि की तुलना तालिबान से करने पर मुन्नवर राना के खिलाफ मध्य प्रदेश के गुना में एफआईआर दर्ज की गई है। आईपीसी की धारा 505(2) के साथ ही एससी-एसटी एक्ट की धाराओं के तहत यह मामला दर्ज किया गया है। गुना के एसपी राजेश मिश्रा ने कहा कि सीआरपीसी के सेक्शन 154 के तहत यह केस लखनऊ पुलिस को सौंप दिया जाएगा क्योंकि अपराध का स्थान लखनऊ था।

यह केस बीजेपी के अनुसूचित जाति मोर्चा के महासचिव सुनील मालवीय की शिकायत पर दर्ज किया गया है। सुनील मालवीय ने कहा, 'तालिबान की महर्षि वाल्मीकि से तुलना कर के राना ने वाल्मिकी समुदाय और हिंदू धर्म का अपमान किया है। राना के बयान ने हमारी धार्मिक भावनाओं को आहत किया है।'

बता दें कि एक कार्यकर्म के दौरान मुन्नवर राना ने यह कहा था कि महर्षि वाल्मीकि एक डकैत थे लेकिन रामायण लिखने के बाद वह भगवान बन गए। राना ने यह भी कहा था कि जब हम वाल्मीकि को भगवान के रूप में बताते हैं तो हमें उनके बीते हुए समय के बारे में भी बात करनी चाहिए।

उन्होंने आगे कहा, 'व्यक्ति का चरित्र बदल जाता है। ठीक इसी तरह, अभी तालिबानी आतंकवादी हैं लेकिन समय के साथ लोगों का चरित्र बदल जाता है।'