नए साल पर भारत के एक शहर ने ऐसा रिकाॅर्ड बनाया जिसको लेकर पुलिस भी हैरान है। नए साल के जश्न के मौके पर मुंबई में सिर्फ 35 लोगों को शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़ा गया। पिछले कुछ वर्षों के मुकाबले में यह आंकड़ा काफी कम है।

पुलिस के मुताबिक पिछले साल नए वर्ष के मौके पर  मुंबई में 677 लोगों को शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़ा गया था और अदालत ने 6 महीने के लिए उनका लाइसेंस रद्द कर दिया था। पुलिस का कहना है कि इस साल केवल 35 लोग शहर में शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़े गए। यह संख्या पिछले कुछ वर्षों की तुलना में काफी कम है।
पुलिस के मुताबिक कोरोना वायरस के मद्देनजर रात को लगे कर्फ्यू के कारण अधिकतर लोगों ने घर में ही नव वर्ष का जश्न मनाया। वाहनों की सुगम आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए नए साल की पूर्व संध्या पर शहर में कई स्थानों पर मुंबई यातायात पुलिस के कर्मी तैनात किए गए थे।

उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी के कारण यातायात पुलिस ने ब्रेथ एनालाइजर का इस्तेमाल न करने का निर्णय किया था। इस कारण वाहन चालकों के रक्त के नमूनों की जांच की गई। उन्होंने बताया कि रक्त के नमूनों की जांच में 35 चालकों के नशे में होने की बात सामने आई। अधिकारी ने कहा कि इसी के आधार पर उनके खिलाफ कार्रवाई की गई। मुंबई में 5 जनवरी तक रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक का कर्फ्यू लगा है।