कांग्रेस सांसद मोहम्मद जावेद ने अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के बजट को लेकर मोदी सरकार पर तंज कसते हुए लोक सभा में कहा कि इस मंत्रालय को बंद क्यों नहीं कर देते। इसके बाद अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने उन्हें जबरदस्त जवाब दिया। उन्होंने कहा कि आपका सुझाव आपको मुबारक हो।

यह भी पढ़ें : मणिपुर पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, साबुन के डिब्बों में भरी हेरोइन की जब्त

इतना ही नहीं बल्कि नकवी ने यह भी कहा कि मोदी सरकार पूर्व की कांग्रेस नीत संप्रग सरकार की विरासत ढो रही है। बिहार के किशनगंज से लोक सभा सदस्य जावेद ने प्रश्नकाल के दौरान अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय से संबंधित पूरक प्रश्न पूछने के दौरान सरकार पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि सदन में महुआ मोइत्रा (तृणमूल सांसद) ने कहा था कि 10 हजार करोड़ रुपये के बजट वाले नागर विमानन मंत्रालय को बंद क्यों नहीं कर दिया जाए? मैं आज यह कहना चाहता हूं कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय का बजट 5 हजार करोड़ रुपये है। जबकि, देश का बजट 22 लाख करोड़ रुपये का है। ऐसे में यह अल्पसंख्यक कार्य विभाग बंद क्यों नहीं कर देते?

यह भी पढ़ें : मणिपुर की सभी स्कूलों में अब होगा बड़ा बदलाव, करना होगा इस नियम का सख्ती से पालन

जावेद ने आरोप लगाते हुए कहा था कि सरकार अल्पसंख्यकों के बारे में सिर्फ बोलती है,  करती कुछ नहीं। इस दौरान लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि कोई भी योजना होती है तो बजट तो सबके काम आता है। हम सदन में सभी जाति, धर्म और विकास की बात करें,  लेकिन विषय का ध्यान रखें।

जावेद की बात का जवाब देते हुए नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय मोदी सरकार ने नहीं बनाया है। हम तो आपकी विरासत को ढो रहे हैं। आपने सदन के पटल पर अच्छा सुझाव दिया है, लेकिन यह आपका अपना सुझाव है, आपको मुबारक हो।

DMK सांसद ए राजा के पूरक प्रश्न के उत्तर में नकवी ने कहा कि पहले अल्पसंख्यकों का तुष्टीकरण होता था, लेकिन विकास नहीं होता था। हमने अल्पसंख्यकों के विकास को देश के विकास के साथ जोड़ा है। UPSC के नतीजे देख लीजिए तो पता चल जाएगा कि हमने क्या प्रयास किए हैं।