भाजपा सांसद कामाख्या तासा ने कहा है कि नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर भाजपा और भाजपा की राज्य सरकार कतई चिंतित नहीं है। नई दिल्ली में आयोजित भाजपा राष्ट्रीय परिषद की बैठक से इतर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए जोरहाट से भाजपा सांसद ने कहा कि मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल की सरकार खिलंजिया (मुल असमिया) समाज के खिलाफ कोई कदम नहीं उठा सकती।


सरकार असमिया समाज के अस्तित्व की रक्षा के लिए कदम उठा रही है। विधेयक को लेकर राज्य में हो रहे आंदोलन को राजनीति से प्रेरित और सरकार को अस्थिर करने का साजिश बताया। चाय जनजातियों से संबंध रखने वाले भाजपा नेता ने कहा कि कुछ दल-संगठन भ्रम फैलाने का कार्य रहे हैं। लेकिन सच्चाई जब सामने आएगी तब इन दल-संगठनों को भारी पड़ेगा।


उन्होंने कहा कि विधेयक केवल असम केंद्रीत नहीं है। देश विभाजन का दंश झेल रहे लोग कई अन्य राज्यों में हैं लेकिन आंदोलन केवल असम में ही हो रहा है।