छत्तीसगढ़ पुलिस ने महात्मा गांधी पर अभद्र टिप्पणी करने वाले कालीचरण महाराज को आज मध्यप्रदेश के खजुराहो से गिरफ्तार (Arrest Of Kalicharan Maharaj) कर लिया। रायपुर से पुलिस का विशेष दल कालीचरण की तलाश में कल रात छतरपुर जिले के खजुराहो पहुंचा था। वहीं मध्यप्रदेश सरकार की तरफ से कहा गया है कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने एमपी पुलिस (MP police) को बिना बताए कालीचरण महाराज को गिरफ्तार कर अंतर्राज्यीय प्रोटोकॉल (interstate protocol) का उल्लंघन किया है। एमपी के डीजीपी ने छत्तीसगढ़ डीजीपी से बात कर गिरफ्तारी की प्रक्रिया पर आपत्ति दर्ज कर पूरे मसले पर स्पष्टीकरण मांगा है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने कहा कि कालीचरण के परिवार और उनके वकील को गिरफ्तारी की सूचना दे दी गई है। 24 घंटे से पहले उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। छत्तीसगढ़ पुलिस ने नियम नहीं तोड़े हैं।

पुलिस को सूचना थी कि कालीचरण खजुराहो से 18 किलोमीटर दूर एक होटल में रुका है। पुलिस के दल ने तड़के संबंधित होटल से कालीचरण (Kalicharan Maharaj) को अपने कब्जे में ले लिया। रायपुर जिला पुलिस का कहना है कि कालीचरण को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस का दल आरोपी को लेकर सड़क मार्ग से रायपुर के लिए निकल चुका है। पुलिस ने यह भी बताया कि कालीचरण की गिरफ्तारी के संबंध में खजुराहो की पुलिस को सूचना दे दी गयी है। 

इस बीच मध्यप्रदेश पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह पूरी कार्रवाई छत्तीसगढ़ पुलिस (Chhattisgarh Police) ने ही की है। कालीचरण ने हाल ही में एक कार्यक्रम में मंच से महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के खिलाफ अमर्यादित, असभ्य और अशालीन टिप्प्णी करते हुए उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) का समर्थन किया था। इसके बाद छत्तीसगढ़ पुलिस ने कालीचरण के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी थी। बताया गया है कि कालीचरण रायपुर से मध्यप्रदेश के इंदौर होते हुए खजुराहो पहुंचा था।