कोरोना वायरस का ऐसा रूप सामने आया है जिसको देखकर किसी भी रूह कांप सकती है। मेक्सिको के मॉन्टेरे में रहने वाली अन्ना को कोरोना संक्रमण हुआ था। इस दौरान जब उसने अपनी नवजात बच्ची को दूध पिलाने की कोशिश की तो उसने देखा कि उसके दूध का रंग हल्का हरा हो गया है। इससे वह काफी हैरान थी।

वहीं डायटिशियन का मानना है कि महिला के खान-पान की वजह से उसके दूध का रंग बदला होगा। लेकिन जब अन्ना कॉर्टेज ने कहा कि उसने डॉक्टरों के हिसाब से बताए गए डाइट का पालन किया और अपने खाने में कोई बदलाव नहीं किया तो इससे डायटिशियन हैरान रह गए। क्योंकि अन्ना ने बताया कि वह बहुत हरी सब्जियां खाती थी लेकिन उसके दूध का रंग सामान्य ही था।

जब अन्ना की मां ने लैक्टेशन एक्सपर्ट से बात की तो उन्होंने बताया कि यह एक सामान्य प्रक्रिया है। जब मां बीमार होती है या उसकी बच्ची बीमार हो या दोनों बीमार हो यानी उन्हें सर्दी-जुकाम या पेट में वायरस का संक्रमण होता है तो मां के दूध का रंग बदलना एक आम प्रक्रिया है। यह शरीर में विकसित हो रही एंटीबॉडीज की वजह से होता है।