आज के व्यस्त समय में सुबह काम पर जाने की जल्दी और भागदौड़ के कारण हम नहाते वक्त शरीर के कुछ मुख्य अंगों को धोना अक्सर भूल जाते हैं। लेकिन इन्हें ठीक से धोने की बहुत जरूरत होती है। इन्हें ठीक से नहीं धोने पर स्वास्थ्य समस्याएं बढ़ सकती हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं शरीर के वो पांच अंग नियमित रूप से ठीक से धोना जरूरी है।

जीभ
जीभ को भी साफ करना उतना ही जरूरी है जिनके दूसरे अंगों को। आमतौर पर लोग सोचते हैं कि मुंह की स्वच्छता के लिए माउथवॉश का इस्तेमाल करना ही काफी है, लेकिन यह ठीक नहीं हमारी जीभ में लकीरें और उभार होते हैं, जहां बैक्टीरिया को आसानी से छिपने की जगह मिल जाती है। इस प्रकार न केवल सांस से दुर्गंध आती है, बल्कि दांतों में सडऩ की समस्या भी होने लगती है। इसलिए हमें ब्रश करते समय अपनी जीभ को रोजाना टंग स्क्रेपर से साफ करना चाहिए।

नाभि
नाभि शरीर का सबसे ज्यादा नजरअंदाज किया जाने वाला अंग है। हालांकि, अगर इसे ठीक से साफ न किया जाए, तो यहां गंदगी जमेगी और बैक्टीरिया का विकास होने लगेगा। नाभि जैसी जगह जो गहरी और नम होती है, बैक्टीरिया के प्रजनन के लिए आदर्श जगह है। बैक्टीरिया के प्रजनन से दुर्गंध और संक्रमण हो सकता है। इसलिए नहाने के बाद रोजाना अपने नाभि को तौलिया से सुखाएं और इसे रूई से साफ करने की आदत डालें।

​नाखून
सिर्फ हाथों को धोना ही काफी नहीं, बल्कि अपने नाखूनों के नीचे की सफाई करना भी उतनी ही जरूरी है। क्योंकि बैक्टीरिया आपके नाखूनों के नीचे जमा हो सकते हैं, जो दस्त जैसी बीमारियों का कारण बनते हैं। बेहतर है कि समय-समय पर आप नाखून के अंदर के हिस्से की भी सफाई करें। अच्छा होगा कि महीने में एक बार मेनिक्योर करा लें। इससे यहां जमने वाली गंदगी अच्छे से साफ हो जाएगी और आप बीमारियों से बचे रहेंगे।

​कानों के पीछे
यह वह जगह है जहां सिबेशियस ग्लैंड स्थित होती है। यह सीबम का स्त्राव करती है। यहां बैक्टीरिया और गंदगी आसानी से जमा हो सकती है। इसलिए कान के पीछे के हिस्से को साफ करना चाहिए। हालांकि, आमतौर पर हम इसे साफ करना भूल जाते हैं या कहें कि अनदेखा कर देते हैं।

​पैर की उंगलियों के बीच की जगह
यह शरीर का वह हिस्सा है जिसे आमतौर पर अनदेखा कर दिया जाता है। पैर के बीच की उंगलियों की जगह पर ध्यान न देने या सफाई न करने के कारण इस हिस्से में गंदगी जमा हो सकती है। अपने पैर की उंगलियों के बीच सफाई न करने से गंदगी और बैक्टीरिया का निर्माण होता है, जिसके कारण पैरों में से बदबू आती है, जिस वजह से कई बार लोगों के सामने शर्मिंदा भी होना पड़ता है। इसलिए नहाते वक्त हमेशा इस क्षेत्र को साबुन और पानी से साफ करें। इन्हें अच्छे से सुखाएं। यदि दुर्गंध का अहसास हो, तो तुरंत टेल्कम पाउडर लगा लें। इसके अलावा महीने में एक बार पेडिक्योर कराना भी अच्छा तरीका है।