इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट ने दुनिया के सबसे महंगे शहरों की लिस्ट जारी की है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस लिस्ट में इजराइल के तेल अवीव (Israel Tel Aviv) शहर को टॉप पर रखा गया है। बुधवार को प्रकाशित सर्वे के मुताबिक तेल अवीव दुनिया का सबसे महंगा शहर है, जहां बढ़ती महंगाई ने वैश्विक स्तर पर रहने की लागत को बढ़ा दिया है। सबसे महंगे शहरों में पेरिस और सिंगापुर संयुक्त रूप से दूसरे नंबर पर हैं। वहीं, दमिश्क को रहने के लिए दुनिया का सबसे सस्ता शहर बताया गया।

इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (ईआईयू) द्वारा संकलित आधिकारिक रैंकिंग में पहली बार शीर्ष स्थान हासिल करने के लिए इजरायली शहर पांच पायदान चढ़ गया। वर्ल्डवाइड कॉस्ट ऑफ लिविंग इंडेक्स 173 शहरों में वस्तुओं और सेवाओं के लिए अमेरिकी डॉलर में कीमतों की तुलना करके संकलित किया गया है। तेल अवीव आंशिक रूप से अपनी राष्ट्रीय मुद्रा और साथ ही परिवहन और किराने के सामान की कीमतों में वृद्धि के कारण रैंकिंग में चढ़ गया है। इस लिस्ट में पेरिस और सिंगापुर संयुक्त दूसरे स्थान पर रहे। फिर ज्यूरिख और हांगकांग का स्थान रहा। न्यूयॉर्क छठे स्थान पर है। स्विटजरलैंड का जिनेवा सातवें पायदान पर पहुंचा है।

शीर्ष 10 में आठवें स्थान पर कोपेनहेगन, नौवें में लॉस एंजिल्स और 10 वें स्थान पर जापान का ओसाका शहर रहा। पिछले साल सर्वेक्षण में पेरिस, ज्यूरिख और हांगकांग को संयुक्त रूप से पहला स्थान मिला था। इस साल का डेटा अगस्त और सितंबर में एकत्र किया गया था, क्योंकि माल और वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि हुई थी। यह दर्शाता है कि स्थानीय मुद्रा के संदर्भ में औसत कीमतों में 3.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई।