देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर देखी जा रही है। बीते पांच महीनों में सोमवार को कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। कोरोना को लेकर महाराष्ट्र की स्थिति सबसे ज्यादा खराब है, यहां रोजाना कोरोना के नए मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार पूरे देश में पिछले 24 घंटों के अंदर 68,020 नए कोरोना के मामले आए हैं। 

आपको बता दें कि 11 अक्टूबर के बाद से सबसे अधिक रोजाना आने वाले कोरोना के नए मामले हैं। बढ़ते कोरोना मामलों के बीच केंद्र व राज्य सरकारें पूरी तरह से अलर्ट हो गई हैं। महाराष्ट्र में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है तो उधर मध्य प्रदेश के कई शहरों में कोरोना प्रोटोकॉल की सख्त पाबंदी लगाई गई हैं।  

कोरोना के चलते सोमवार को 291 लोगों की मौत हुई है और देश में अब तक कुल 161,843 लोगों की जान जा चुकी है। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान 40,414 मामले दर्ज किए गए हैं। बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र सरकार सख्त लॉकडाउन लगाए जाने पर विचार कर रही है। हालांकि सरकार ने राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाया हुआ है।

बता दें कि देश में लगातार तीन दिनों से 60,000 से ऊपर के मामलों आ रहे हैं। एक साल पहले कोरोना महामारी शुरू होने के बाद से देश में कुल मामलों की संख्या एक करोड़ बीस लाख (12 मिलियन) के पार हो गई। वैश्विक स्तर पर अमेरिका और ब्राजील के बाद भारत तीसरा सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित देश है।

बढ़ते मामलों के बीच कई राज्यों ने होली और मुस्लिमों के त्योहार शब-ए-बारात के लिए गाइडलाइन जारी की हैं। होली के त्योहार के बीच कई राज्य सरकारों ने सामूहिक समारोहों पर प्रतिबंध लगाया है।  

वहीं, बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच देश की राजधानी दिल्ली में पुलिस ने सार्वजनिक समारोहों को रोकने के लिए गश्त तेज कर दी है। दिल्ली में भी कोरोना के मामलों में लगातार वृद्धि देखी जा रही है। दिल्ली में पिछले 24 घंटों में 1,881 मामले दर्ज किए गए हैं। 

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने एक बयान में कहा कि कोरोना के 85 फीसद मामले देश के आठ राज्यों से हैं। ये राज्य महाराष्ट्र, कर्नाटक, पंजाब, मध्य प्रदेश, गुजरात, केरल, तमिलनाडु और छत्तीसगढ़ हैं। जहां पर सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं।