पाकिस्तान में 90 प्रतिशत से अधिक छात्र गणित और विज्ञान विषय में काफी कमजोर (students weak in maths, science) हैं। ये छात्र प्राथमिक और निन्न माध्यमिक स्कूलों के हैं। दरअसल आगा खान यूनिवर्सिटी (Aga Khan University) इंस्टीट्यूट फॉर एजुकेशनल डेवलपमेंट में फैकल्टी ने ये सर्वेक्षण किया है। 

इस अध्ययन में 153 सार्वजनिक और निजी स्कूलों में कक्षा पांच, छह और आठ के पंद्रह सौ से ज्यादा छात्र-छात्राओं को शामिल (students in Pakistan) किया गया था। इसमें 90 प्रतिशत बच्चे गणित और विज्ञान विषय में कमजोर निकले। गणित का औसत अंक 100 में से 27 था। विज्ञान का औसत अंक 100 में से 34 था। केवल एक प्रतिशत छात्रों ने किसी भी विषय में 80 से अधिक अंक प्राप्त किए। लड़कियों ने विज्ञान में लडक़ों को थोड़ा पीछे छोड़ दिया और जबकि गणित में लडक़ों ने लड़कियों की बराबरी की। 

निजी स्कूलों में औसत अंक पब्लिक स्कूलों की तुलना में अधिक था, लेकिन किसी भी विषय में 40 से अधिक नहीं था। अध्ययन में कुल 78 पब्लिक स्कूलों और 75 निजी स्कूलों ने भाग लिया। सहायक प्रोफेसर नुसरत फातिमा रिजवी (Professor Nusrat Fatima Rizvi) ने कहा कि विज्ञान और गणित की शिक्षा पर ध्यान देने की सख्त जरूरत है।