यूक्रेन रूस के युद्ध को आज 22 दिन हो चुके हैं। 4 बार की वार्ता नाकामयाब रही है। इसी बीच मिसाइलों और बमबारी के बीच यूक्रेन के सूमी में एक अनाथालय से 70 से अधिक बच्चों को निकाला गया। सूमी के गवर्नर दिमित्रो ज़्य्वित्स्की ने सोशल मीडिया पर जानकारी देते हुए लिखा है कि विदेश में सुरक्षित स्थान पर ले जाने से पहले शिशुओं को दो सप्ताह से बेसमेंट में आश्रय दिया गया था।

एल्यूमिनियम और बॉक्साइट पर बैन

ऑस्ट्रेलिया ने यूक्रेन पर हमला करने को लेकर रूस के खिलाफ नए प्रतिबंध लगाए। ऑस्ट्रेलिया ने यूक्रेन को अधिक हथियारों और मानवीय सहायता का वादा करते हुए एल्यूमिनियम और बॉक्साइट के सभी निर्यात पर तुरंत प्रतिबंध लगा दिया है।

May be an image of 5 people, child, people standing and indoor
मारियुपोल में तबाही के मंजर

यूक्रेन के बंदरगाहों के शहर मारियुपोल में रूसी हमले से उत्पन्न तबाही का मंजर बयां करते हुए एक पुलिस अधिकारी ने अमेरिका और फ्रांस से मदद की गुहार लगायी है और यूक्रेन को अपनी आधुनिक वायु रक्षा प्रणाली उपलब्ध कराने का उनसे अनुरोध किया है।

मलबे में तब्दील हो चुके इस शहर के पुलिस अधिकारी मिशेल वर्शनिन ने एक वीडियो पोस्ट जारी करके अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों से कहा है कि उन्होंने मदद का आश्वासन दिया था, ‘लेकिन उसे जो मिला है, वह मदद तो नहीं है’