दक्षिण पश्चिम मानसून इस साल जल्दी दस्तक देगा और लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिलेगी। आईएमडी ने शुक्रवार को घोषणा की कि बहुप्रतीक्षित दक्षिण-पश्चिम मानसून 27 मई को केरल में दस्तक दे सकता है, जबकि यह 1 जून के आसपास आता है।

ये भी पढ़ेंः अब नहीं बचेंगे आप विधायक अमानतुल्लाह खान, दिल्ली पुलिस ने घोषित किया हिस्ट्रीशीटर


मानसून के आने का देश में बेसब्री से इंतजार किया जाता है क्योंकि इसका भारत की कृषि और अर्थव्यवस्था पर गहरा प्रभाव पड़ता है। मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, इस साल, केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरूआत सामान्य तिथि से पहले होने की संभावना है। केरल में मानसून के 27 मई को चार दिनों की मॉडल त्रुटि के साथ आने की संभावना है।

ये भी पढ़ेंः मार्केट में धूम मचाने आया ये 10 हजार रुपये का धांसू फोन, डिजाइन देख दीवाने हो रहे लोग


मानसून सबसे पहले दक्षिण अंडमान सागर में दस्तक देगा और मानसूनी हवाएं फिर बंगाल की खाड़ी में उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ेंगी। माना जा रहा है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून 22 मई के आसपास अंडमान सागर में आ सकता है। आईएमडी ने कहा, भूमध्य हवाओं के तेज होने के साथ, दक्षिण-पश्चिम मानसून के दक्षिण अंडमान सागर, निकोबार द्वीप समूह और दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में 15 मई के आसपास बारिश होने की संभावना है। हालांकि आईएमडी ने बताया कि, पछले आंकड़ों से पता चलता है कि अंडमान सागर में मानसून के आने की तारीख का केरल में मानसून की शुरूआत का कोई लेना देना नहीं है।