प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) (ED) ने रविवार को कहा कि उन्होंनेे धन शोधन रोकथाम (पीएमएलए) (Money laundering case) मामले में यूपी के भदोही से विधायक विजय मिश्रा (MLA Vijay Mishra) से पूछताछ की। ईडी के कुलीन अधिकारियों की एक टीम आगरा जेल (agra jail) पहुंची, जहां विजय मिश्रा बंद है। जानकारी के मुताबिक ईडी ने फरवरी में मिश्रा और उनके कथित सहयोगियों के खिलाफ पीएमएलए का मामला दर्ज किया था। प्रयागराज से ईडी कार्यालय की एक टीम मामले की जांच कर रही है।

सूत्रों ने दावा किया है कि मिश्रा मनी लॉन्ड्रिंग  (Money laundering case) में शामिल थे और इसके लिए उन्होंने अपने दोस्तों की मदद ली। उन्होंने बड़ी चल-अचल संपत्ति भी अर्जित की। मिश्रा से उनकी चल-अचल संपत्ति के बारे में पूछताछ की गई। उनके सहयोगियों के बारे में भी उनसे पूछताछ की गई। एक सूत्र ने कहा कि वे आगे की जांच के लिए उनकी संपत्ति की जानकारी आयकर विभाग (IT) और अन्य एजेंसियों को भेजेंगे। एक सूत्र ने कहा, हम उनकी संपत्ति के बारे में जानने के लिए अन्य एजेंसियों की भी मदद लेंगे। वह बहुत सारी जानकारी छिपा रहे हैं। हमने उन्हें कागजात दिखाए, लेकिन वह हमें गुमराह करने की कोशिश कर रहे थे।

ईडी ने कहा कि जल्द ही वे पीएमएलए की धारा 5 के तहत उनकी संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई शुरू करेंगे। जांच एजेंसी ने कहा कि मिश्रा (MLA Vijay Mishra) की प्रयागराज के अल्लापुर, हंडिया और भदोही में अवैध संपत्तियां हैं। ईडी का मामला मिश्रा के खिलाफ विभिन्न पुलिस थानों में दर्ज प्राथमिकी पर आधारित है। ईडी उनके परिवार के सदस्यों की संपत्ति की भी जानकारी जुटा रही है। मामले में आगे की जांच जारी है।