ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश में 11 साल की बच्ची से बलात्कार का मामला सामने आया है। रेप का आरोप टैक्स एंड एक्साइज विभाग के संयुक्त आयुक्त तनी जोंग्के पर लगा है। पीडि़ता की मां ने मुख्यमंत्री पेमा खांडू को खुला खत लिखा है। पत्र में मुख्यमंत्री से मामले में हस्तक्षेप करने को कहा है ताकि न्याय की जीत हो। जोंग्के कथित रूप से लंबे समय से गिरफ्तारी से बच रहा है और अग्रिम जमानत याचिकाएं दाखिल कर रहा था। पत्र में आरोप लगाया गया है कि हायर अथॉरिटीज अधिकारी को बचाने की कोशिश कर रहे हैं। 

पीडि़ता की मां का कहना है कि आरोपी सरकारी अधिकारी है जिसके पास जिम्मेदारी का पद है। अगर वह इस पद पर बना रहता है तो वह अपनी ताकत और पॉजिशन का इस्तेमाल कर मामले की जांच को प्रभावित करने की कोशिश कर सकता है। अपने पत्र में पीडि़ता की मां ने लिखा, कोई संदेह नहीं है कि मामला न्यायालय के विचाराधीन है और कानून अपना काम करेगा लेकिन एक एरिया है जहां आपके दखल की तुरंत जरुरत है। 

आरोपी को तुरंत प्रभाव से उसके पद से सस्पेंड करना चाहिए लेकिन अभी तक उसके निलंबन की फाइल आगे नहीं बढ़ पाई है। फाइल विभाग में धूल फांक रही है। संबंधित अथॉरिटीज मामले में सहयोग नहीं कर रही है। जब उसकी अग्रिम जमानत याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी तो वह हेल्थ ग्रउंड पर नहारलागुन स्थित तोमो रिबा इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड मेडिकल साइसेंज में भर्ती हो गया। वह अभी भी अस्पताल में भर्ती है,इस कारण पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर पा रही है।