पाकिस्तान का सलामी बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान (Mohammad Rizwan) गुरुवार को आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप (ICC T20 WC) के दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया (Australia Vs Pakistan) के खिलाफ खेले गए मैच में हीरो रहे। उन्होंने 52 गेंदों पर 67 रनों की शानदार पारी खेली। हालांकि, इतनी कोशिश भी काम न आई और पाकिस्तान को कंगारूओं के हाथों 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा।

कई लोगों को पता नहीं था कि टूर्नामेंट के शानदार फॉर्म में रहे रिजवान 9 नवंबर को सीने में संक्रमण के कारण आईसीयू  (Mohammad Rizwan in ICU) में दो दिन तक भर्ती थे। इसके बावजूद, टीम के लिए वह जल्द ठीक हो गए और टी20 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरा सेमीफाइनल मैच में बेहतरीन प्रदर्शन किया। रिजवान के बारे में पूछे जाने पर पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम (Pakistan captain Babar Azam) ने कहा, सलामी बल्लेबाज ने जिस तरह से खेल दिखाया है, उससे पता चलता है कि वह एक टीम मैन है।

उन्होंने बताया, सही मायने में वह एक शानदार खिलाड़ी हैं। उन्होंने पूरे वर्ल्डकप के दौरान असाधारण प्रदर्शन किया। जब मैंने उसे देखा, तो ठीक नहीं लग रहे थे। लेकिन, जब मैंने उनसे स्वास्थ्य के बारे में पूछा तो उसने कहा कि मैं ठीक हूं और खेलूंगा। इसके बाद जिस तरह उन्होंने प्रदर्शन किया, उसे लगता है कि वह एक टीम मैन है। इस बारे में कप्तान बाबर (Babar Azam) ने टीम के डॉक्टर नजीब सोमरू (Dr Najeeb Somru) से रिजवान की स्थिति के बारे में बताने को कहा।

सोमरू के मुताबकि, रिजवान (Mohammad Rizwan) को 9 नवंबर को सीने में संक्रमण हो गया था, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां वह दो रातें आईसीयू में भर्ती थे। इसके बाद, उन्होंने अविश्वसनीय रूप से रिकवरी की और मैच से पहले खेलने के लिए फिट हो गए। यह उनके महान संकल्प और देश के लिए प्रदर्शन करने की भावना को दशार्ता है। फिर हम देख सकते हैं कि उन्होंने कैसा प्रदर्शन किया। सोमरू ने कहा कि टीम प्रबंधन ने रिजवान के स्वास्थ्य की सूचना को गुप्त रखा, जिससे टीम का मनोबल न गिरे, क्योंकि टूर्नामेंट में टीम शानदार प्रदर्शन करते हुए सभी मैच जीत रही थी। उनके स्वास्थ्य को लेकर सोमरू ने आगे जानकारी दी कि उनके स्वास्थ्य को गुप्त रखने का निर्णय पूरी टीम प्रबंधन द्वारा लिया गया था और यह टीम के मनोबल को हाई रखने के लिए किया गया था। गौरतलब है कि पाकिस्तान का सलाती बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान टूर्नामेंट के छह मैचों में 281 रन बनाए, जिसमें उन्होंने तीन अर्धशतक लगाए। इस मेगा इवेंट में उनका सर्वश्रेष्ठ 79 की नाबाद रहा जो उन्होंने भारत के खिलाफ बनाए थे।