मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को मैन ऑफ आइडियाज (Man of Ideas) (सुझावों से परिपूर्ण व्यक्ति) बताते हुए कहा कि वे असाधारण व्यक्ति हैं, उनके विचारों और कार्यों के परिणामस्वरुप देश बदल रहा है। मध्य प्रदेश के जनसंपर्क विभाग (MP Public Relations Department) द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि दिल्ली में एक मीडिया समूह के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान  (Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि प्रदेश में विकास और जन-कल्याण की गतिविधियों के संचालन के लिए राज्य सरकार फ्रंटफुट पर कार्य कर रही है। एक साल में 1 लाख 50 हजार करोड़ की राशि किसानों के खातों में डाली गई है, संबल योजना पुन: आरंभ की गई है। प्रदेश में जारी लाडली लक्ष्मी योजना (Ladli Laxmi Yojana) सहित महिला सशक्तिकरण के लिए क्रियान्वित योजनाओं का परिणाम ही है कि लिंगानुपात 1000 पर 912 से बढकऱ 956 हुआ है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) असाधारण व्यक्ति हैं। वे मैन ऑफ आइडियाज हैं। उनके विचारों और कार्यों के परिणामस्वरूप देश बदल रहा है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा आरंभ योजनाओं का आदर्श रूप से क्रियान्वयन और उसमें अग्रणी रहने के लिए राज्य सरकार सदैव प्रयासरत रहती है। प्रदेश में प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) के नेतृत्व में अधोसंरचना विकास, किसानों के कल्याण और बेटियों की बेहतरी के लिए निरंतर कार्य जारी है। मुख्यमंत्री चौहान ( CM Chauhan) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ग्लासगो सम्मेलन में पर्यावरण संरक्षण के लिए विश्व को दिशा दिखाई है। पर्यावरण संरक्षण के लिए वृक्षारोपण आवश्यक है। मैंने प्रतिदिन पौधे लगाने का संकल्प लिया है। इस गतिविधि में सामाजिक संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं और व्यक्तियों को जोडऩे के उद्देश्य से मैं प्रतिदिन उनके साथ वृक्षा-रोपण करता हूं।

मुख्यमंत्री चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रदेश में ग्रीन एनर्जी के क्षेत्र में कार्य हो रहा है। हमारा उद्देश्य 10 प्रतिशत तक बिजली बचाने का है, जिसे हम जन-भागीदारी से प्राप्त करेंगे। बिजली बचत का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं स्वयं व्यक्तिगत स्तर पर भी बिजली बचाने का प्रयास करता हूं और लोगों को इसके लिए निरंतर प्रेरित भी करता हूं। अपने स्तर पर यदि कोई बल्ब या ट्यूबलाइट मुझे व्यर्थ जलता दिखाई देता है तो मैं स्वयं उसे बुझाता हूं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन का सामना जन-भागीदारी मॉडल के आधार पर किया जाएगा। हम संकट के मुहाने पर खड़े हैं। प्रदेश में ऑक्सीजन प्लांट, वेंटिलेटर की उपलब्धता तथा अन्य सभी आपातकालीन आवश्यक व्यवस्थाएं उपलब्ध हैं। हमारा प्रयास होगा कि इन सबकी आवश्यकता ही न पड़े। वर्तमान में मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य सावधानियों का कड़ाई से पालन करने के लिए वातावरण निर्माण की प्रक्रिया को गति दी जा रही है। संभावित संकट का मुकाबला मिल-जुलकर किया जाएगा।