वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने शुक्रवार को यहां बाबतपुर हवाईअड्डे पर यूक्रेन से लौटे विद्यार्थियों के एक दल के साथ यूक्रेन में उनके अनुभवों और वहां से उनकी स्वदेश वापसी के बारे में जानकारी हासिल की। मोदी चुनाव प्रचार के सिलसिले में वाराणसी के आस-पास के जिलों में सभाओं को संबोधित करने के लिए यहां आये थे।

यह भी पढ़ें- रूस यूक्रेन युद्ध के बीच पुतिन की बेटी के पीछे पड़ी दुनिया, खू​बसूरती देख दीवाने हुए लोग

हवाईअड्डे पर यूक्रेन से वापस लौटे छात्र-छात्राओं ने उनके साथ संवाद किया तथा अपने अनुभव साझा किये। इस दल में 17 विद्यार्थी थे जिनमें तीन प्रयागराज और शेष वाराणसी मंडल के थे। प्रधानमंत्री ने विद्यार्थियों से कहा कि यह बहुत कठिन समय है तथा इस वक्त विद्यार्थियों ने साहस का परिचय दिया है। 

यह भी पढ़ें- ये हैं रूस के चार जिगरी दोस्त देश, हर समय कुछ भी करने को रहते हैं तैयार

Modi meet student, listened experiences of students, student returned from Ukraine, Ukraine war, Ukraine-Russia war

उन्होंने कहा कि सरकार ने मुसीबत में फंसे भारतीय नागरिकों की सहायता करने के लिए पहले भी सफल प्रयास किये हैं। यूक्रेन से भारतीय नागरिकों की निकासी के लिए भी प्रयास जारी रहेंगे। छात्र-छात्राओं ने प्रधानमंत्री को बताया कि यूक्रेन से निकासी में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे ने उनकी बहुत मदद की। दुनिया में भारत की इतनी साख है कि यू्क्रेन से निकलने का प्रयास कर रहे अन्य देशों के नागरिकों ने भी तिरंगे को अपनाया। उन्होंने कहा कि उन्हें अपनी भारतीय होने पर गर्व महसूस हुआ।