राज्यपाल प्रो, जगदीश मुखी ने कहा है कि राज्य के उद्योग जगत में एमएसएमई प्रमुख क्षेत्र है। यह क्षेत्र बहुत ही कम पूंजी में रोजगार सृजन और औद्योगिक विकास में सर्वाधिक योगदान देता है। विदेशी व्यापार और एक्जिम पाॅलिसी विषय पर आयोजित एक राष्ट्रीय सेमिनार में बोलते हुए राज्यपाल ने कहा कि पिछले पांच दशकों में एमएसएमई ने भारतीय अर्थव्यवस्था में एक गतिशील क्षेत्र का रूप लिया है।


उन्होंने कहा कि एमएसएमई रोजगार देने के साथ उत्पादन और निर्यात में सबसे ज्यादा योगदान देता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए राज्यपाल मुखी ने कहा कि देश एक दूरदर्शी नेता की अगुवाई में  बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने एक्ट ईस्ट पाॅलिसी और खासकर एशियाई देशों के नागरिकों के बीच संपर्क को बढ़ाने को कार्य किया है।

राज्यपाल ने कहा कि आज के समय में भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है क्योंकि वर्तमान व्यापार नीति, सरकार द्वारा किए गए सुधारों और भारतीय अर्थव्यवस्था में निहित मजबूती ने दुनिया के निवेशकों को अपनी ओर आकर्षित किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा कई देशों के साथ व्यापार के क्षेत्र में किए गए महत्वपूर्ण समझौतों से भी देश की अर्थव्यवस्था को बल मिल रहा है।


सेमिनार में पीएचडी चैंबर के प्रधान निदेशक डा.रणजीत मेहता, एमएसएमई डीआई गुवाहाटी के निदेशक श्रीनिवासुलु और जानेमाने राजनीतिक विश्लेषक डा.एस के दत्ता के साथ बड़ी संख्या में विषय जानकर और दूसरे गणमान्य लोग उपस्थित थे।