भारत में अभी भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी जारी है। इसी के साथ ही आज केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि कीमतों के बढ़ने की मुख्य वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों का बढ़ना है, जहां कच्चे तेल की कीमत 70 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल से अधिक है। मंत्री ने कहा कि भारत 80 फीसदी तेल आयात करता है, यही वजह है कि उपभोक्ताओं पर असर पड़ता है।

पेट्रोलियम पदार्थ को जीएसटी के दायरे में लाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह इस विचार से सहमत हैं। उन्होंने कहा, "इस कमोडिटी की कीमत वैश्विक बाजार द्वारा नियंत्रित होती है। मेरी राय है कि ईंधन को जीएसटी के तहत लाया जाना चाहिए। लेकिन, यह तभी किया जाएगा जब जीएसटी परिषद के सदस्य आम सहमति पर पहुंचेंगे।''
दिल्ली में पेट्रोल 95.31 रुपये प्रति लीटर के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर है। वहीं डीजल 86.22 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। मुंबई में पेट्रोल 101.52 और डीजल 93.58 प्रति लीटर की दर से बिक रहा है। छह राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश (राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और लद्दाख) में प्रेटोल इस समय 100 रुपये प्रति लीटर के पार बिक रहा है।