पाकिस्तान के ऐथलीट अंतरराष्ट्रीय टूर्नमेंटों में भाग लेने के लिए भारत आ सकेंगे। इसके लिए मोदी सरकार ने ​लिखित में सहमति दी है। इसी के साथ अब भारत में आयोजित होने वाले अंतरराष्ट्रीय खेल इवेंट की मेजबानी अधिकारों के निलंबन से जुड़ा मामला सुलझता दिख रहा है। मोदी सरकार ने भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) और इंटरनेशनल ओलिंपिक कमिटी (आईओसी) को लिखित यह गारंटी दी है कि पाकिस्तान के सभी पात्र खिलाड़ियों को देश में आयोजित होने वाली अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट्स में भाग लेने दिया जाएग। गौरतलब है कि फरवरी में भारत में हुए निशानेबाजी वर्ल्ड कप में भाग लेने के लिए पाकिस्तान के निशानेबाजों को वीजा नहीं दिया गया था। इसके बाद भारत में वैश्विक प्रतियोगितओं की मेजबानी से जुड़ी बातचीत को आईओसी ने रद्द कर दिया था। 

लिखित में दिया आश्वासन

ओलिंपिक समिति ने कहा था कि जब तब भारत सरकार से लिखित में आश्वासन नहीं मिल जाता तब तक वो यहां पर ओलिंपिक से जुड़ी की मेजबानी नहीं करने देगा। इसके बाद अब आईओए के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा, केंद्रीय खेल सचिव राधेश्याम झुलानिया ने लिखित में दिया है कि ‘भारत आईओसी द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति या अंतरराष्ट्रीय महासंघ से संबंधित किसी राष्ट्रीय संघ के सभी योग्य खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति देगा। भारत सरकार की नीति आईओसी के तहत भारत में आयोजित होने वाले अंतरराष्ट्रीय खेल टूर्नामेंट्स में सभी योग्य ऐथलीटों, खिलाड़ियों और अधिकारियों भाग लेने दिया जाएगा।’