केंद्र की मोदी सरकार केंद्रीय कर्मचारियों को तोहफा देने की तैयारी कर रही है। जानकारी के मुताबिक, जनवरी महीने में कर्मचारियों के महंगाई भत्ता यानी डीए और डीआर में इजाफा किया जाएगा। केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के डीए पर पिछले साल रोक लगा दिया था। यह रोक कोरोना और लॉकडाउन के कारण लिया गया था। लेकिन रिपोर्ट के मुताबिक अब होली से पहले मोदी सरकार कर्मचारियों को राहत देने की तैयारी में नजर आ रही है।

वर्तमान में केंद्र सरकार के कर्मचारियों का डीए 17 फीसदी है। अगर सरकार डीए में बढ़ोतरी करेगी तो यह बढ़ोतरी 4 फीसदी के आसपास हो सकती है। हालांकि 2019 में यह बढ़कर 21 फीसदी हो गया था। लेकिन कोरोना महामारी के कारण केंद्र सरकार ने बढ़ोतरी को जून 2021 तक फ्रीज कर दिया है। 4 फीसदी बढ़ोतरी का लाभ करीब 35 लाख केंद्रीय कर्मचारियों के अलावा सभी राज्य के कर्मचारियों तथा पेंशनर्स को मिलेगा। सूत्रों का कहना है कि जनवरी 2020 से डीए फ्रीज है। ऐसे में इस बढ़ोतरी का लाभ जुलाई 2021 के वेतन से मिलेगा।

एजी ऑफिस ब्रदरहुड के पूर्व अध्यक्ष और सिटिजंस ब्रदरहुड के अध्यक्ष हरिशंकर तिवारी ने एक मीडिया संस्थान को बताया कि इस बार भी महंगाई भत्‍ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी होगी। केंद्र सरकार इसे समय-समय पर बढ़ोतरी करती है। इसका कैलकुलेशन बेसिक पे को आधार मानकर फीसदी में होता है। अभी कर्मचारियों और पेंशनरों को अलग-अलग डीए मिल रहा है। जानकारों के मुताबिक बढ़ोतरी का लाभ पूरी तरह टैक्‍सेबल होता है। यानि आपको जितनी रकम महंगाई भत्‍ते के नाम पर मिलती है, वह टैक्‍सेबल है। तिवारी के मुताबिक जून 2021 तक बढ़ोतरी का लाभ बढ़कर 30 से 32 फीसदी भी हो सकता है।