सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है उन्हें बढ़ी हुई सैलरी मिलने जा रही है। मोदी सरकार ने ऐलान कर दिया है कि केंद्रिय कर्मचारियों के रुके हुए महंगाई भत्ते का फायदा 1 जुलाई से मिलने लगेगा। इसके साथ ही डीए का रुका हुआ एरियर भी जारी किया जाएगा।

कोरोना के चलते पिछले साल महंगाई भत्ते की दोनों किस्त जारी नहीं की गई थीं। इस बार भी अभी तक डीए में कितनी बढ़ोतरी होगी इसका ऐलान नहीं हुआ है। लेकिन सरकार ने साफ कर दिया है कि तीनों किस्तों का फायदा 1 जुलाई के बाद तीन किस्तों में दे दिया जाएगा।
 
जनवरी से जुलाई 2020 (3 फीसदी) और जुलाई से दिसंबर 2020 (4 फीसदी) डीए केंद्रीय कर्मचारियों को कोरोना की वजह से नहीं मिल सका। अब जनवरी से जुलाई 2021 के महंगाई भत्ते का ऐलान होना है जो कि 4 फीसदी हो सकता है। कुल मिलाकर 17 फीसदी डीए जो अभी मिल रहा है और (3+4+4) को मिलाकर 28 फीसदी तक हो सकता है।

डीए में बढ़ोतरी के ऐलान के साथ ही पेंशनर्स को भी इसका फायदा होगा। आंकड़ों के मुताबिक करीब 50 लाख केंद्रीय कर्मचारी और 65 लाख से ज्यादा पेंशनर्स को इसका फायदा मिलेगा।

नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत के साथ ही नए श्रम कानून भी लागू हो सकते हैं। नए श्रम कानून संसद से पास हो सकते हैं और उन्हें मोदी सरकार 1 अप्रैल से लागू करने जा रही है। इसका असर आपके हाथ में आने वाली सैलरी पर पड़ेगा।

जैसे ही डीए में बढ़ोतरी का ऐलान होगा आपकी सैलरी पर इसका पूरा असर पड़ेगा। नियमों के मुताबिक मूल वेतन के हिसाब से ही पीएफ और ग्रैच्युटी कटती है। नए वेज कोड के मुताबिक CTC में मूल वेतन 50 फीसदी से कम नहीं होना चाहिए।