केंद्र की मोदी सरकार को अरुणाचल प्रदेश, असम, सिक्किम, मिजोरम, मेघालय सहित 12 राज्यों में झटका लगा है। दरअसल, रोजगार के लिए प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम पर फोकस कर रही मोदी सरकार को 12 राज्‍यों ने अपना टारगेट पूरा नहीं किया है। इन राज्यों में भाजपा शासित राज्‍य भी शामिल हैं।

मिनिस्‍ट्री ऑफ माइक्रो, स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज एमएसएमई की एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, ये राज्‍य प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉमेंट जनरेशन प्रोग्राम के टारगेट को पूरा नहीं कर पा रहे हैं।

 
इस रिपोर्ट के मुताबिक, मध्‍यप्रदेश, छतीसगढ़, गोवा, झारखंड, तेलंगाना, अरुणाचल प्रदेश, असम, सिक्किम, मिजोरम, मेघालय, दिल्‍ली और लक्ष्‍य द्वीप शामिल हैं।


वहीं, प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम में बेस्‍ट परफॉर्म करने वाले राज्‍यों में आंध्रप्रदेश, गुजरात, नागालैंड, तमिलनाडु, जम्‍मू कश्‍मीर, कर्नाटक, महाराष्‍ट्र, वेस्‍ट बंगाल और यूपी का नाम शामिल हैं।


पीएमईजीपी के ई-पोर्टल के मुताबिक, राज्‍यों में युवा बेरोजगार प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (प्रधानमंत्री रोजगार योजना) का लाभ लेने के लिए अप्‍लाई तो कर रहे हैं, लेकिन जिला स्‍तर पर बनी डिस्ट्रिक्‍ट लेबल टास्‍क फोर्स कमेटी द्वारा बैंकों को अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड करने के मामले में 12 राज्‍यों का परफॉर्मेंस खराब है।


पोर्टल के मुताबिक मध्‍यप्रदेश में अप्रैल 2017 से लेकर 25 फरवरी 2018 तक 7794, छतीसगढ़ में 10487, झारखंड में 10229, गोवा में केवल 74, तेलंगाना में 8100, अरुणाचल प्रदेश में 508, और दिल्‍ली में 1692 अप्‍लीकेश बैंकों को फॉरवर्ड की गई।


रिपोर्ट के मुताबिक कुछ राज्‍य अच्‍छा परफॉर्म कर रहे हैं। जिसमें उत्‍तर प्रदेश में अप्रैल 2017 से लेकर 25 फरवरी 2018 तक 32405, पश्चिम बंगाल में 16275 और तमिलनाडु में 11927 अप्‍लीकेशन बैंकों को फॉरवर्ड की गई।