केंद्र सरकार 60 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों यानी सीनियर सिटीजन के लिए 'प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना' नाम से एक पेंशन प्लान लेकर आई है।  लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन से यह पेंशन प्लान ऑफलाइन और ऑनलाइन, दोनों तरीकों से खरीदा जा सकता है। इस नई पेंशन योजना में 10 सालों तक सालाना 8% की ब्याज दर के साथ हर महीने पेंशन की तय राशि दी जाएगी। योजना के तहत 15 लाख रुपए तक निवेश कर सालाना 1.20 लाख रुपए पेंशन सुनिश्चित कर सकते हैं। 10 साल के बाद प्‍लान मैच्‍योर होने पर उनको अपना निवेश किया हुआ पैसा भी पेंशन के साथ मिल जाएगा। वरिष्‍ठ नागरिक इस योजना के तहत अपनी सुविधानुसार मंथली, तिमाही, छमाही या सालाना पेंशन ले सकते हैं। 

प्रधानमंत्री व्‍यय वंदन योजना में निवेश करने की लिमिट पहले 7.5 लाख रुपए थी। इसे बढ़ा कर 15 लाख रुपए कर दिया गया है। इससे वरिष्‍ठ नागरिक अब इस स्‍कीम में ज्‍यादा पैसा निवेश कर अधिक पेंशन ले सकेंगे। इससे ऐसे वरिष्‍ठ नागरिकों को हर माह एक तय रकम मिल सकेगी जो एक मुश्‍त रकम निवेश कर सकते हैं। आम तौर पर सीनियर सिटीजस ऐसी जगहों पर पैसा निवेश करने से बचते हैं जहां पर रिस्‍क होता है। ऐसे में यह सरकारी स्‍कीम उनको नियमित तौर पर जरूरी खर्च के लिए पैसे का प्रवाह बनाए रखने का एक बे‍हतर विकल्‍प देती है। 

 

प्रधानमंत्री व्‍यय वंदन योजना 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए है। कोई भी वरिष्‍ठ नागरिक भारतीय जीवन बीमा निगम यानी एलआईसी से यह प्‍लान खरीद सकता है। इस स्‍क्‍ीम के तहत प्‍लान खरीदने वाले को  तय राशि पेंशन के तौर पर मिलेगी। इस स्‍कीम में अधिकतम एक व्‍यक्ति 15 लाख निवेश कर सकता है। इसके तहत अधिकतम 10,000 मंथली पेंशन मिलेगी। 10 साल के बाद यानी प्‍लान मैचयोर होने पर उस व्‍यक्ति को निवेश की गई पूरी राशि वापस मिल जाएगी।