अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (एआईसीसी) के सचिव प्रद्युत बरदलै ने उत्तर संदेश के मुख्यमंत्री योगी  आदित्यनाथ पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस ने भाजपा द्वारा अदालत में पेश गलत तथ्यों को सबके आमने में रखने का काम किया है । साथ ही कांग्रेस की ओर से जेपीसी से जांच करवाने की मांग से मोदी सरकार डर गई है। 

आज मंगलवार को राजीव भवन में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बरदलै ने कहा कि सांप्रदायिकता के आधार पर राजनीति करने वाले यूपी के मुख्यमंत्री योगी द्वारा राहुल गांधी से माफी मांगने की बात कहकर लोगों का ध्यान हटाने का प्रयास कर रहे हैं । 

उन्हें राहुल से माफी मंगवाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। कांग्रेस नेता ने राफेल विमान सौदे पर कांग्रेस पार्टी की और से अदालत के फैसले आने के बाद संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच करवाने की मांग कर रही है । सरकार इस मांग को पूरा करने से भाग क्यों रही है? बरदलै ने तत्कालीन एनडीए व यूपीए सरकार का हवाला देते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी तथा पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह के शासनकाल में छह छोटे- छोटे मुद्दे पर हुए विवाद की जांच जेपीसी से करवाने के निर्देश दिए गए थे तो अब क्यों नहीं? कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार को यह मांग स्वीकार करनी  चाहिए और उच्चतम न्यायलय में उल्लिखित कैग रिपोर्ट जेपीसी के समक्ष आनी चाहिए तथा विमानों के मूल्य तथा दूसरे दस्तावेजों की जांच होनी चाहिए ।