लाखों केंद्रीय कर्मचारियों  और पेंशनर्स के लिए खुशखबरी है।  खबरों के मुताबिक केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में भारी बढ़ोतरी हुई है।  केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 17 फीसदी से बढ़कर 28 फीसदी हो गई है।  मुताबिक DA और DR में बढ़ोतरी 1 जुलाई से लागू मानी जाएगी और इसका भुगतान दशहरा (15 अक्टूबर) के पहले कर दिया जाएगा।  एक आंकड़े के मुताबिक केंद्र सरकार के इस फैसले से तकरीबन 1.2 करोड़ केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को फायदा होगा। 

गौरतलब है कि 7वें वेतन आयोग के तहत फिलहाल केंद्रीय कर्मचारियों को 17 फीसदी का महंगाई भत्ता मिलता है।  पिछली तीन किस्तों की जब DA बढ़ोतरी की बहाली हो जाएगी तब ये बढ़कर 28 फीसदी हो जाएगा।  आपको बता दें कि जनवरी 2020 में 4 फीसदी DA बढ़ा था, इसके बाद दूसरी छमाही यानि जुलाई 2020 में 3 फीसदी  और जनवरी 2021 में यह 4 फीसदी बढ़ा।  अब अगर जुलाई 2021 में भी ये 3 फीसदी बढ़ता है तो केंद्रीय कर्मचारियों को सितंबर से डीए (17+4+3+4+3) 31 फीसदी हो जाएगा। 

आपको बता दें कि DA हर साल दो बार जनवरी और जुलाई में संशोधित किया जाता है।  पर सरकार ने पिछले साल कोविड-19 महामारी के मद्देनजर डीए में बढ़ोतरी नहीं की थी।  इस पर लगभग डेढ़ साल (मार्च 2020 से जून 2021) तक रोक लगी हुई थी जो बीते महीने ही खत्म हुई है।  ऐसे में इस पर जल्द फैसला संभव है।  इससे पहले डीए और पेंशनर्स के डीआर को लेकर बुधवार (6 जुलाई) को होने वाली कैबिनेट की बैठक रद्द हो गई थी।  पीएम मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के संभावित कैबिनेट विस्तार के चलते यह बैठक रद्द करनी पड़ी थी। 

एक मीडिया रिपोर्ट में ये दावा किया गया है कि कर्मचारियों की मंथली सैलरी में 3000 रुपये से लेकर 30,000 रुपये तक की बढ़ोतरी हो जाएगी।  हालांकि DA बहाली के बाद मासिक वेतन कितनी बढ़ेगी ये कर्मचारियों के पे-स्केल पर निर्भर करेगा।  एक रिपोर्ट के मुताबिक डीए (DA) और  डीआर (DR) में बढ़ोतरी को केंद्र सरकार को वित्त वर्ष 2022 में लेकर 30,000 करोड़ रुपये खर्च करनी पड़ सकती है।  इतना ही नहीं राज्यों पर भी करीब 60,000 करोड़ रुपये खर्च होने की उम्मीद है। 

कर्मचारियों के नेशनल काउंसिल के सेक्रेटरी शिवगोपाल मिश्रा के मुताबिक जनवरी 2021 और जुलाई 2021 के महंगाई भत्तों (DA) का ऐलान सितंबर में होगा।  लिहाजा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को अभी दो महीने का इंतजार करना होगा।  उनके मुताबिक क्लास 1 के कर्मचारियों का DA एरियर 11,880 रुपये से लेकर 37,554 रुपये के बीच होगा।  साथ ही उन्होंने कहा कि अगल लेवल-13 यानी 7वें CPC मूल वेतनमान 1,23,100 रुपये से 2,15,900 रुपये या लेवल-14 के वेतनमान के लिए गणना की जाती है तो केंद्र सरकार के एक कर्मचारी का DA बकाया 1,44,200 रुपये से 2,18,200 रुपये के बीच होगा।