अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर के बाद पीएम नरेंद्र मोदी असम में जनसभा को संबोधित किया। पीएम मोदी ने रैली में मौजूद लोगों को असम की क्षेत्रीय भाषा में संबोधित किया है। अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने भारत रत्न भूपेन हजारिका को भी याद किया। 

पीएम मोदी ने कहा कि असम के लोगों से मिल रहा यह अपार प्यार मां कामाख्या का आशीर्वाद है। आज नॉर्थ ईस्ट के विकास में नया इतिहास जुड़ रहा है। थोड़ी देर पहले ही असम और नॉर्थ ईस्ट के विकास से जुड़े हजारों करोड़ के प्रॉजेक्ट्स का लोकार्पण, उद्घाटन और शिलान्यास किया गया है।

असम में कांग्रेस पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'BC और AD यानि बिफोर कांग्रेस और आफ्टर डायनेस्टी का ही गौरवगान करने वालों से मैं आज यहां से पूछना चाहता हूं कि आखिर आपने भारत के सच्चे रत्नों को न पहचानने का कुटिल खेल दशकों तक क्यों खेला। आखिर ऐसा क्यों रहा कि कुछ लोगों के लिए जन्म लेते ही उनके लिए भारत रत्न तय हो जाता था और देश के मान-सम्मान के लिए जिन्होंने जीवन लगा दिया उनको सम्मानित करने के लिए दशक लग जाते थे? आज मुझे गर्व है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार के समय ही असम के दो सपूतों, गोपीनाथ बोरदोलोई और भुपेन हजारिका को भारत रत्न देने का काम किया गया है।