डिजिटल इंडिया (Digital India) के दौर में अधिक से अधिक लोग मोबाइल वॉलेट (Mobile Wallet) की मदद से पेमेंट को तवज्जो दे रहे हैं। इसी के साथ ही अब लोगों के साथ धोखाधड़ी के मामले में बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में आपको भी इस तरह फ्रॉड को लेकर सावधान रहना चाहिए, क्योंकि ज़रा सी लापरवाही की वजह से आपका बैंक अकाउंट खाली हो सकता है।

लोगों की मेहनत की कमाई ठगने के लिए हैकर्स नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। कई जगहों से ऐसी खबरें आ रही हैं कि मोबाइल वॉलेट KYC पूरा करने के नाम पर हैकर्स लोगों चूना लगा रहे हैं। ये हैकर्स लोगों को कॉल करके कहते हैं कि आप अपने मोबाइल वॉलेट का KYC पूरा कर लीजिए नहीं तो कंपनी आपका अकाउंट बंद या सस्पेंड कर देगी। KYC पूरा करने के नाम पर ये हैकर्स लोगों से एक ऐप इन्स्टॉल करने को बोलते हैं। इसी ऐप की मदद से हैकर्स बैंक अकाउंट में सेंध लगा रहे हैं. हैकर्स लोगों को कॉल कर कहते हैं कि आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। आप घर बैठे ही अपने मोबाइल पर KYC पूरा कर सकते हैं। इसके लिए बस उन्हें अपने मोबाइल पर एक ऐप इन्स्टॉल करना होगा। इसके लिए हैकर्स लोगों से सॉफ्टवेयर कोड मांगते हैं। इसी कोड की मदद से हैकर्स लोगों के खाते से पैसे निकाल रहे हैं। दरअसल, इस कोड की मदद से हैकर्स लोगों के फोन में कॉन्टैक्ट लिस्ट, मैसेज समेत फोटो तक देख सकते हैं। लोगों के ​लिए परेशानी की बात ये है कि इस सॉफ्टवेयर को आसानी से डिलीट भी नहीं किया जा सकता।

चौंकाने वाली बात है कि इस तरह की धोखाधड़ी से मोबाइल वॉलेट कंपनियां भी अंजान हैं। ये कंपनियां समय-समय पर अपने ग्राहकों को सावधान रहने के​ लिए SMS व अन्य माध्यमों से आगाह करती हैं। एक मोबालइ वॉलेट कंपनी पेटीएम ने इस संबंध में लोगों को जानकारी देने के लिए ब्लॉग भी लिखा है। इसमें बताया गया है कि पेटीएम की फुल केवाईसी सिर्फ कंपनी के एजेंट ही कर सकते हैं। एजेंट फुल केवाईसी कस्टमर के आमने-सामने बैठकर पूरा करते हैं।