कछार पुलिस ने सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। इसमें कथित रूप से दो विधायकों का नाम सामने आए हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दोनों विधायक कथित तौर पर सेक्स वर्कर्स के ग्राहक थे। एक हेलाकांडि से विधायक है जबकि दूसरा कछार से। कछार पुलिस ने सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया था, इनमें दो शादीशुदा महिलाएं भी शामिल है। सिचलर की कोर्ट ने शुक्रवार को तीनों आरोपियों को दो दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया।

सेक्स रैकेट में शामिल दो शादीशुदा महिलाओं, जिनके बच्चे भी हैं, और जो किसी तरह भाग गई थी, ने रैकेट के सरगना और दो अन्य के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज कराई थी। इन्हीं एफआईआर के आधार पर पुलिस ने रैकेट के सरगना इजाफा मजूमदार, रूपक रॉय और बुल्ती रॉय को गिरफ्तार किया। शिकायतकर्ताओं का दावा है कि बड़े राजनेता और बिजनेसमैन सेक्स वर्कर्स के ग्राहक हैं।

देह व्यापार कछार के मेहेरपुर के पुष्पा बिहार लेन में चल रहा था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शिकायतकर्ताओं ने कछार करीमगंज के विधायकों के नाम बतौर ग्राहक के रूप में लिए हैं। 6 अगस्त को एफआईआर दर्ज की गई थी। एफआईआर दर्ज होने के बाद इजाफा शिकायतकर्ताओं को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी। इजाफा के सहयोगियों ने शिकायकर्ताओं पर धारदार हथियारों से हमला भी किया था। शुक्रवार को इजाफा की गिरफ्तारी के बाद यह मामला सामने आया।

शिकायतकर्ता का आरोप है कि इजाफा ने युवा व शादीशुदा लड़कियों को जबरन देह व्यापार में धकेला। इन्हें पैसे और अच्छी लाईफ स्टाइल का लालच दिया गया। कछार पुलिस ने मीडिया को बताया कि सेक्स रैकेट में दो और लोग शामिल हो सकते हैं। उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। कछार के पुलिस अधीक्षक राकेश रोशन ने मीडिया को बताया कि हम मामले की जांच कर रहे हैं। हम रैकेट के बारे में और जानकारी के लिए आरोपियों से पूछताछ कर रहे हैं।