नागरिकता संशोधन विधेयक की आलोचना करते हुए जोरहम नेशनलिस्ट पार्टी के नेता लालदुहावमा ने कहा कि इसके कारण समूचा पूर्वोत्तर 'जल रहा' है। उन्होंने क्षेत्र की सभी पार्टियों से भारतीय जनता पार्टी से संबंध तोड़ने की अपील की। उन्होंने यहां ब्रिगेड परेड ग्राउंड में विपक्ष की रैली में कहा कि अगर यह विधेयक अधिनियमित किया जाता है, तो भारत वह स्थान नहीं रहेगा, जैसा यह है। इसलिए हम केंद्र में एक धर्मनिरपेक्ष सरकार चाहते हैं, ताकि इस विधेयक को वापस लिया जाए या उत्तरपूर्व को छूट प्रदान की जाए। लालदुहवमा मिजोरम विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं।

उन्होंने कहा कि मैं उत्तरपूर्व की सभी क्षेत्रीय दलों से भाजपा से सभी प्रकार के संबंध तोड़ने और इस महान आंदोलन में शामिल होने की अपील करता हूं। आइए, हम सब मिलकर सांप्रदायिकता के खिलाफ लड़ाई में एकजुट हों। उन्होंने कहा कि हम केंद्र में एक नई धर्मनिरपेक्ष सरकार को देखना चाहते हैं, ताकि उत्तरपूर्व के लोग सुरक्षित हों।