रेल राज्य मंत्री राजन गोहेन ने त्रिपुरा की वाम मोर्चा सरकार पर विभिन्न विकासात्मक योजनाओं को लागू करने में असहयोग करने का आरोप लगाया है। गोहेन ने कल हमसफर एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाने के बाद कहा कि राज्य सरकार के असहयोगात्मक रवैये के कारण कई विकासात्मक परियोजनाओं के क्रियान्वयन में देरी हुई है और आधारभूत ढांचों की स्थापना के लिए राज्य सरकार जमीन उपलब्ध नहीें करा रही है। 

उन्होंने कहा, केन्द्र सरकार ने कईं योजनाओं के लिए धनराशि आबंटित कर दी है और आधारभूत ढांचे की स्थापना के लिए तकनीकी सहायता भी उपलब्ध कराई है लेकिन इनके क्रियान्वयन की जिम्मेदारी राज्य सरकार पर है। त्रिपुरा की हालत देखकर देखकर लगता है कि सरकार इनमें सहयोग करने की इच्छुक नहीं है और यही सबसे बड़ी समस्या है।

रेल राज्य मंत्री ने कहा कि इसके बावजूद राज्य को विकसित करने की केेन्द्र की अनेक योजनाएं है और इन्हें जल्दी ही क्रियान्वित किया जाएगा। रेल मंत्रालय की झारखंड में देवघर के लिए विशेष योजना है। उन्होंने राज्य के भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष बिप्लव कुमार देब की मांग पर गौर करते हुए कहा कि त्रिपुरा में अगरतला और धर्मनगर के बीच अम्बासा में राजधानी ट्रेन का ठहराव होगा और अगरतला तथा नई दिल्ली के बीच यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इनके फेरे बढ़ाने पर विचार किया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि अगरतला से समीपवर्ती शहरों के लिए 20 डेमो रेलगाड़यिों को चलाया जाएगा और आने वाले दिनों में सभी एक्सप्रेस रेलगाड़यिों के फेरों में भी वृद्वि की जाएगी।