मास्को। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन के खिलाफ सैन्य अभियान को जरूरी और समय से उठाया गया कदम बताया है। बीबीसी ने रूसी राष्ट्रपति के हवाले से बताया कि यूक्रेन के खिलाफ सैन्य कार्रवाई एक संप्रभु, आजाद और मजबूत देश का सही निर्णय था। यहां रेडस्क्वॉयर में अपने विजय संदेश की शुरूआत करते हुए पुतिन ने कहा कि रूसी सैनिक देश की सुरक्षा के लिए लड़ रहे हैं। 

ये भी पढ़ेंः लगातार 33वें दिन भी मिली आम जनता को राहत, इतनी है पेट्रोल और डीजल की कीमत


हमारा कर्तव्य है कि विश्व युद्ध फिर से होने से रोकने के लिए हम वो सब कुछ करें जो जरूरी है। रूस के लिए उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) एक निश्चित खतरा है। यूक्रेन युद्ध को सही ठहराते हुए रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि नाटो और यूक्रेन तो खतरा हमारे लिए खड़ा कर रहे थे वह किसी कीमत पर स्वीकार नहीं किया जा सकता था। हमने यूरोपीय देशों से इसका कोई पक्षपातरहित हल निकालने की अपील की लेकिन उन्होंने हमारी बात नहीं सुनी। 

ये भी पढ़ेंः लाड़ली लक्ष्मी योजना-2 : कालेज जाने वाली छात्राओं को मिलेगें 25 हजार रुपए, किश्तों में मिलेगी राशि


उन्होंने आगे कहा, 'एक ओर यूक्रेन परमाणु हथियार बनाने के दावे कर रहा था तो दूसरी ओर नाटो ने हमारे देश की सीमा के बेहद निकट ही खनन गतिविधियां शुरू कर दीं, जिससे हमारे देश और हमारी सीमाओं को निश्चित रूप से खतरा पैदा हो गया। हमारे खिलाफ की जा रही यह सारी कार्रवाईयां बता रहीं थीं कि अब युद्ध जरूरी हो गया है।' 

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने आज कहा कि इस बीच मास्को में विजय दिवस परेड मौसम खराब होने के कारण रद्द कर दिया गया।