मणिपुर की राजधानी इंफाल से दीमापुर की ओर जा रहे तेल टैंकरों पर संदिग्ध उग्रवादियों ने रविवार को घात लगाकर हमला कर दिया जिससे टैंकर का चालक घायल हो गया। 

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कांगपोक्पी में हुए इस संदिग्ध उग्रवादी हमले की निंदा करते हुए कहा कि राजमार्ग पर निर्दोष लोगों को निशाना बनाना आतंकवादी गतिविधि है और इस तरह के मामलों से सख्ती से निपटा जाएगा। 

उन्होंने कहा कि हमले के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने हमलावरों की तलाश के लिए पुलिस को पूरे इलाके में अभियान चलाने को कहा है।

सिंह ने बताया कि तलाश अभियान में असम राइफल्स और सेना राज्य पुलिस की मदद करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार निर्दोष लोगों के जीवन की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। 

मुख्यमंत्री ने भारत-म्यांमार सीमा पर सीमा सड़क संगठन और जनरल रिजर्व इंजीनियर फोर्स के साथ काम कर रहे दो श्रमिकों की हत्या की भी निंदा की। उन्होंने कहा कि हमलावरों को माकूल जवाब दिया जाएगा।