जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu and Kashmir Police) ने गुरुवार को द रेसिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) (TRF) के दो उग्रवादियों (Militant module) और उनके दो सहयोगियों को गिरफ्तार कर एक उग्रवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया। पुलिस ने कहा कि उन्होंने गिरफ्तार आतंकवादियों के पास से चार पिस्तौल और दो साइलेंसर बरामद किए हैं। 

श्रीनगर में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुये मध्य कश्मीर के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) सुजीत कुमार (DIG Sujit Kumar) ने कहा कि श्रीनगर में एक नागरिक रऊफ अहमद की हत्या की जांच के दौरान आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि पिछले साल 22 दिसंबर को श्रीनगर के सफाकदल में एक प्रॉपर्टी डीलर अहमद की आतंकवादियों ने हत्या कर दी थी। महानिरीक्षक ने कहा, जांच के दौरान श्रीनगर में कुछ संदिग्धों की आवाजाही का पता चला था। इसके बाद एक खुफिया जानकारी के आधार पर श्रीनगर पुलिस ने बघाट बरजुल्ला इलाके में आतंकवादियों (terrorist in srinagar) की संदिग्ध गतिविधि का पता लगाया गया। इसके लिये श्रीनगर पुलिस ने सीआरपीएफ (CRPF) के साथ मिलकर विशेष चौकियां लगाईं और द रेसिस्टेंस फ्रंट (The Resistance Front) (टीआरएफ) के दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया। 

पुलिस ने गिरफ्तार आतंकवादियों की पहचान पुलवामा के त्राल निवासी सुहैल कादिर खांडे और निकलुरा पुलवाम के सुहैल मुश्ताक वाजा के रूप में की है। पुलिस ने कहा कि गिरफ्तार आतंकवादियों ने अपने दो सहयोगियों की पहचान कमराबाद श्रीनगर के बासित बिलाल मकाया और किलोरा शोपियां के नाइकू इमाद निसार के रूप में की है, जिन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के अनुसार, गिरफ्तार आतंकवादियों ने उन्हें बताया कि वे बेमिना निवासी आसिफ मकबूल डार, जो फिलहाल सऊदी अरब में रह रहा है और श्रीनगर के परिमपोरा निवासी सजाद गुल, जो अभी पाकिस्तान में रह रहा है, के निर्देश पर काम कर रहे थे।