मणिपुर में म्यांमार सीमा के पास सेना के असम राइफल कैंप पर सुबह उग्रवादियों ने हमला कर दिया। हालांकि इस हमले में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। जवानों की सूझबूझ और जागरूक रहने के चलते समय रहते हुए इन उग्रवादियों को सेना ने भागने पर मजबूर कर दिया। इस बात की जानकारी अधिकारियों ने मुहैया कराई है।


बम से किया हमला

अधिकारियों के मुताबिक यह घंटना चंदेल जिले की है। तड़के सुबह उग्रवादियों ने सेना के कैंप में बम फेंकने शुरू कर दिए। जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की। कुछ मिनटों तक दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी भी की गई। थोड़ी देर बार ही उग्रवादियों ने हाथ खड़े कर दिए और जल्द ही नजदीक की पहाड़ी से भागने पर मजबूर हो गए।

इन संगठनों ने ली जिम्मेदारी

ज्ञात हो कि यह सीमा चौकी चंदेल जिले के सेहलॉन गांव में है। आपको बता दें कि प्रतिबंधित संगठन पीपुल्स फ्रंट और मणिपुर नागा पीपुल्स फ्रंट ने इसके बाद प्रेस रिलीज जारी की है, जिसमें उन्होंने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।