मास्को से ढाका जा रहा विमान जब रायपुर के ऊपर से गुजर रहा था तभी पायलट को बेचैनी महसूस हुई और उसको दिल का दौरा पड़ गया। को-पायलट ने तुरंत कोलकाता एटीसी से संपर्क किया और पायलट की तबीयत बिगड़ने की जानकारी दी। इसके बाद विमान को नागपुर एयरपोर्ट पर उतरने का निर्देश दिया गया।

को-पायलट ने विमान को सुरक्षित नागपुर एयरपोर्ट पर लैंड करा दिया। विमान पर सभी यात्री भी सुरक्षित हैं। इसके बाद विमान के पायलट को अस्पताल ले जाया गया है। को-पायलट और एटीसी की सूझबूझ से एक बड़ा हादसा टल गया।

अगर को-पायलट ने सही समय पर जानकारी नहीं दी होती और कोलकाता एटीसी ने विमान के इमरजेंसी लैंडिंग की इजाजत नहीं दी होती तो बड़ा हादसा हो सकता था।