माइक्रोसॉफ्ट कोरोना काल में अपने कर्मचारियों के काम से खुश हो गई जिसके चलते करीब 1.12 लाख का बोनस देगी। कंपनी अपने कर्मचारियों की मेहनत को सम्मानित करने के लिए एकमुश्त 1500 डॉलर (1.12 लाख रुपये लगभग) का बोनस देने का ऐलान किया है। कंपनी की ओर से कॉरपोरेट वाइस प्रेसिडेंट लेवल से नीचे के सभी कर्मचारियों को 1,500 डॉलर का बोनस दिया जाएगा। यह बोनस उन कर्मचारियों को भी मिलेगा जो पार्ट-टाइम वर्कर्स हैं या घंटे के रेट पर कंपनी के साथ जुड़े हैं और 31 मार्च 2021 से पहले कंपनी में ज्वाइन कर चुके हैं। द वर्ज की रिपोर्ट के मुताबिक महामारी के इस दौर में माइक्रोसॉफ्ट ने कठिन वित्तीय वर्ष को पूरा किया है।
1490 करोड़ का अतिरिक्त खर्च                                                                                                                                                     
माइक्रोसॉफ्ट की चीफ पीपल ऑफिसर, कैथलीन होगन (Kathleen Hogan) ने इसकी घोषणा कर्मचारियों से की है। यह अमेरिका और वैश्विक स्तर पर कंपनी के सभी कर्मचारियों पर लागू होगा। हालांकि यह बोनस लिंकडिन, गिथूब और जेनीमैक्स कर्मचारियों के लिए नहीं होगा। ये तीनों कंपनियां माइक्रोसॉफ्ट की स्वामित्व वाली है। माइक्रोसॉफ्ट के पास वर्तमान में 1,75,508 स्टाफ है। इस हिसाब से कंपनी को बोनस पर 20 करोड़ डॉलर (1490 करोड़ रुपये) का अतिरिक्त भार पड़ेगा। वर्ज की रिपोर्ट के मुताबिक यह रकम माइक्रोसॉफ्ट की दो दिन की कमाई से भी कम है।

महामारी से जुड़ा बोनस घोषित करने वाली माइक्रोसॉफ्ट पहली कंपनी नहीं है। इससे पहले फेसबुक ने अपने 45000 कर्मचारियों को पिछले साल एक हजार डॉलर का बोनस दिया था। अमेजन ने फ्रंटलाइन वर्कर को 300 डॉलर होलीडे बोनस दिया है। इसके अलावा बैंक ऑफ अमेरिका ने अपने 1.7 लाख से अधिक कर्मचारियों को रिवॉर्ड दिया था। इनमें भारत में इसके लगभग 24,000 कर्मचारी भी शामिल थे। बैंक ऑफ अमेरिका ने एक लाख डॉलर से कम पैकेज वाले कर्मचारियों को 750 डॉलर का रिवॉर्ड दिया था।