पूर्व ब्यूरोक्रेट और कांग्रेस पार्टी के नेता MGVK Bhanu ने पार्टी छोड़ दी है। भानू असम राज्य कांग्रेस के अतिरिक्त मुख्य सचिव के पद पर थे। उन्होंने 29 अक्टूबर को पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद अब उनका बयान आया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस छोड़ने के पीछे उनका मकसद पार्टी में चल रही राजनीति व उनका राजनीति कार्य है। भानू कहा कि वो राजनीति के लिए नहीं बने हैं।

पूर्व ब्यूरोक्रेट भानू ने इसी साल फरवरी माह में कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ली थी और महज 7 महीनों में ही उन्होंने रिटायरमेंट ले लिया। उन्होंने कहा कि मैंने अपने 34 साल के कॅरियर में लोगों के लिए जो काम किया उसी संबंधित विकास कार्य करना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि मैंने कांग्रेस इसीलिए ज्वॉइन की थी कि वो सांसद बनेंगे और जनता की सेवा करेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी जिस तरह की राजनीति की अपेक्षा उनसे करती है उस तरह की नहीं करेंगे। उन्होंने यह बात सोनतोली में एक प्राइवेट स्कूल के उद्घाटन के मौके पर यह बात कही।

आपको बता दें कि भाने को 2019 लोकसभा चुनावों में पल्लब लोचन दास के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। इतना ही नहीं बल्कि असम चुनावों में भी वो पर्टी के प्रचार कैंपेन में नजर नहीं आए थे। भानू मूलत: आंद्र प्रदेश के वेस्ट गोदावरी जिले के नावाबुपल्लम के रहने वाले हैं।