तुरा। मेघालय में 2 नाबालिग लड़कियों से बलात्कार के मामले सामने आए हैं। पहला मामला वेस्ट गारो हिल्स के हजिरहाट गांव के पास का है। यहां 15 वर्षीय किशोरी से 15 साल के लड़के ने कथित रूप से बलात्कार किया। घटना 10 दिन पहले की है। देर से रिपोर्ट होने के कारण मामला 12 अप्रेल को सामने आया। ग्रामीणों ने पीडि़ता और आरोपी की शादी कराने की कोशिश की। शादी इसलिए नहीं हो पाई क्योंकि आरोपी लड़के ने पीडि़ता के घर वालों से  दहेज में ऑटो रिक्शा मांग लिया। 

पुलिस थाने में दर्ज एफआईआर में पीडि़ता ने बताया कि 31 मार्च को वह अपने स्कूल जा रही थी। आरोपी ने उसका ऑटो रिक्शा रोका और चाकू की नोंक पर उसे अपने साथ ले गया। लड़के ने नाबालिग को एक कमरे में बंद कर दिया। लड़की को तीन दिन तक कमरे में बंद करके रखा गया। इस दौरान आरोपी लड़के ने उससे पांच बार रेप किया। बकौल पीडि़ता, जब मैं रिहाई के लिए चिल्लाई तब उसने मुझे उसी गांव में मेरे रिश्तेदार के घर छोड़ दिया। रिश्तेदारों ने मेरे माता पिता को सूचना दी। 

एफआईआर के मुताबिक ग्रामीणों ने भी घटना के बारे में सुना। उन्होंने इस मामले पर क्या किया जा सकता है इसके लिए बैठक बुलाई। स्थानीय सूत्रों के मुताबिक पीडि़ता की मां ग्रामीणों के कहने पर दोनों की शादी के लिए तैयार हो गई लेकिन स्थिति उस वक्त बिगड़ गई जब लड़के ने दहेज की मांग कर दी। लड़के के पिता ने शादी का विरोध किया। लड़के का पिता असम के गुवाहाटी में काम करता है। इसके बाद 12 अप्रेल को फुलबाड़ी पीएएस में एफआईआर दर्ज कराई गई। 

वेस्ट गारो हिस्ल के उच्च पदस्थ पुलिस सूत्रों के मुताबिक एफआईआर प्राप्त होते ही हम आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए पहुंचे लेकिन वह फरार हो गया। पीडि़ता का मेडिकल कराया गया। इसके बाद रेप का केस दर्ज किया गया। हमनेें दो बार आरोपी को पकडऩे की कोशिश की लेकिन दोनों बार वह बच निकलने में कामयाब रहा। हमारी टीमें केस पर काम कर रही है। दूसरा मामला 14 साल की लड़की के यौन उत्पीडऩ का है। घटना 14 अप्रेल की है। आरोपी की उम्र 17 साल की है। उसे कोर्ट में पेश किया गया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक चिबिनांग के 17 वर्षीय युवक को फुलबाड़ी पुलिस थाने की पुलिसकर्मियों ने पकड़ा।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक भोलारबिठा गांव के करीब लड़के ने नाबालिग को एक कमरे में बंद कर दिया। वहां उसने नाबालिग से रेप किया। जब पीडि़ता चिल्लाई तो ग्रामीण एकत्रित हुए। उन्होंने आरोपी लड़के को पकड़ लिया। फुलबाड़ी पीएस में मामले को लेकर केस दर्ज किया गया। उच्च पदस्थ पुलिस सूत्रों के मुताबिक हम केस की डिटेल्स पर काम कर रहे हैं। आरोपी लड़का अभी रिमांड होम में है। उसे ग्रामीणों ने पुलिस के हवाले किया। पीडि़ता का मेडिकल कराया गया जिसमें सेक्शुअल एक्ट की पुष्टि हुई है।