मेघालय में यौन हमलों के मामले बढ़ते जा रहे हैं। उत्तर गारो हिल्स में 31 साल के एक शख्स ने कथित रूप से 12 साल की लड़की को अगवा किया और बाद में उससे बलत्कार किया। संदिग्ध आरोपी के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया है। घटना शुक्रवार सुबह 9 बजे की है जब लड़की घर से स्कूल जा रही थी। पीडि़ता उत्तर गारो हिल्स के कोनचिकोल अपाल गांव में रहती है। आरोपी की पहचान संजीब अरेंघ के रूप में हुई है। वह भी उसी इलाके का रहने वाला है जहां की पीडि़ता है। घटना के बाद से आरोपी संजीब फरार है। स्थानीय सूत्रों के मुताबिक पीडि़ता की आरोपी से जान पहचान थी। इसी का फायदा उठाते हुए आरोपी ने पीडि़ता को रास्ते में रोका और उसे सुनसान इलाके में ले गया।
वहां पीडि़ता से बलात्कार किया। घटना के बारे में जब लोगों को पता चला तो आरोपी अपनी मोटरसाइकिल छोड़कर गांव से फरार हो गया। हैरानी की बात यह है कि  बलात्कार के बाद आरोपी ने पीडि़ता को मुआवजे के रूप में 50 रुपए ऑफर किए। आरोपी ने पीडि़ता को धमकाया कि अगर उसने घटना के बारे में अपने माता पिता या पुलिस की जानकारी दी तो वह उसे जान से मार देगा। मदर्स यूनियन, खारकुट्टा यूथ ऑर्गेनाइजेशन, व राजासिमला यूथ काउंसिल सहित कई एनजीओ ने पीडि़ता से मुलाकात की। उन्होंने इलाके के लोगों के साथ आरोपी की तलाश की ताकि उसे पकड़कर पुलिस के हवाले किया जाए लेकिन आरोपी अभी तक पकड़ में नहीं आया है।

एनजीओ ने संयुक्त बयान में कहा, हम नाबालिग से रेप की निंदा करते हैं जब वह स्कूल जा रही थी। घटना में शामिल आरोपी को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग करते हैं। यौन हमलों के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ये खतरे की घंटी है। अब वक्त आ गया है कि हम सभी एकजुट होने की कोशिश करें और जागरुकता व जिस तरीके से भी संभव हो इस समस्या को समाप्त करें। बाद में सभी एनओजी ने एक मीटिंग की। यह मीटिंग यौन उत्पीडऩ के मामलों को रोकने के लिए आगे की कार्रवाई पर फैसले के लिए बुलाई गई थी। मामले पर नॉर्थ गारो हिल्स के एसपी पी.मराक ने कहा, हमें मामले की रिपोर्ट मिली है लेकिन आरोपी पकड़ में आने से पहले भागने में कामयाब रहा। हालांकि हमने उसकी बाइक जब्त कर ली है और लुक आउट नोटिस जारी कर दिया है।