केएसयू यानी खासी छात्र संघ ने मेघालय में रेलवे अध्याय बंद करने की मांग की है। संघ का कहना है कि राज्य में रेलवे अध्याय की तुलना में अवैध घुसपैठ की जांच के लिए एक मजबूत तंत्र लाने की आवश्यकता है। केएसयू की ओर से कहा गया कि सरकार को आव्रजन की जांच कराने की दिशा में काम करना चाहिए। संघ के अध्यक्ष लंबोक मार्गनर ने कहा है कि संघठन ने अपना रूख स्पष्ट कर दिया है।

उन्होंने कहा कि आव्रजन की जांच कराने के लिए एक मजबूत तंत्र लाने की आवश्यकता है। रेलवे को लेकर चर्चा बाद में की जाए। पूर्वोत्तर सीमा रेलवे असम के तेतेलिया से मेघालय के बर्नीहाट को जोड़ने वाली रेल लाइन की परियोजना पर ध्यान केंद्रित किए हुए है। लेकिन बर्नीहाट तक रेल लाइन का काम अधूरा है।

रेलवे निर्माण का मेघालय में कई संगठन विरोध कर रहे है। वहीं, कई दबाव समूह भी रेलवे शुरू करने के विरोध में हैं। इसके कारण उनका यह डर है कि रेल शुरू होने के बाद यहां पर बड़े पैमाने पर आव्रजन होगा।