मेघालय के विधानसभा चुनाव में इस बार कोनार्ड संगमा की अगुवाई वाली एनपीपी (नेशनल पीपल्स पार्टी) सबसे बड़े दल के रूप में उभर के सामने आ रही है। एग्जिट पोल के आंकड़ों में एनपीपी कांग्रेस और बीजेपी को पीछे छोड़ते हुए सबसे ज्यादा सीटें लाती दिख रही है। हालांकि एग्जिट पोल में किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है, ऐसे में यहां गठबंधन की सरकार बनने के भी आसार हैं। बता दें कि एनपीपी एनडीए का घटक दल है। वहीं मणिपुर में भाजपा के नेतृत्व में चल रही सरकार के दल में भी है।

कोनार्ड संगमा की अगुवाई वाली एनपीपी (नेशनल पीपल्स पार्टी) को जन की बात-न्यूज एक्स के एग्जिट पोल में 39 प्रतिशत वोट शेयर के साथ 23 से 27 सीटें दी गई हैं। वहीं बीजेपी को 12 प्रतिशत वोट शेयर के साथ 8 से 12 सीटें मिलने का अनुमान है। इसके अलावा कांग्रेस को 21 फीसदी वोट के साथ 13 से 17 सीटें दी गई हैं।

सीवोटर ने बीजेपी को महज चार से आठ सीटें दी हैं। कांग्रेस को 13 से 19 के बीच सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है। इसके साथ एनपीपी को 17 से 23 सीटें दी हैं। हालांकि एक्सिस माई इंडिया-न्यूज 24 के एग्जिट पोल में बीजेपी को बढ़त मिली दिख रही है। एग्जिट पोल में अनुमान है कि बीजेपी 60 सदस्यीय विधानसभा में तकरीबन आधी सीटें (30 तक) जीत सकती है। वहीं कांग्रेस को केवल 20 सीटें मिलने का अनुमान है। पीडीएफ को तीन, एनसीपी को दो और अन्य के खाते में चार सीटें जानें का अनुमान लगाया गया है।

गौरतलब है कि मेघालय में किसी भी पार्टी के लिए अपने दम पर सरकार बना लेना आसान नहीं है। अगर मेघालय में विधानसभा चुनाव के इतिहास को देखें तो यह सपने जैसा है। मेघालय का गठन 1972 में हुआ था। तब ऑल पार्टी हिल लीडर्स कांफ्रेंस को पूर्ण बहुमत मिला था। उसे 32 सीटें मिली थी। बहुमत से एक ज्यादा।  1972 में कांग्रेस को 9 सीटें मिली थी जबकि 19 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते थे। 1972 के बाद मेघालय में जितने भी चुनाव हुए हैं, उनमें किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला। 2013 के विधानसभा चुनाव में भी किसी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला था।


मेघालय एग्जिट पोल

जन की बात-न्यूज एक्स
BJP- 8-12
कांग्रेस- 13-17
NPP- 23-27

सीवोटर
BJP- 4-8
कांग्रेस- 13-19
NPP- 17-23


एक्सिस माई इंडिया-न्यूज 24
BJP- 30
कांग्रेस- 20
PDF- 3
NCP- 2
अन्य- 4