मेघालय के रिबैत पहवा को पीएम मोदी के साथ बैठकर चंद्रयान 2 की लैंडिंग देखने का मौका मिला है। राष्ट्रीय कैडेट कोर की जूनियर विंग के कैडेट तथा मेघालय स्थित रामकृष्णा मिशन स्कूल के छात्र पहवा को यह मौका एक प्रतियोगिता में अपना हुनर दिखाने के बाद मिला है। अब वो बैंगलुरू स्थित इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन में प्रधानमंत्री तथा इसरो के वैज्ञानिकों के साथ बैठकर 7 सितंबर को चंद्रयान 2 की लैंडिग देखेंगे।

आपको बता दें कि ​पहवा पूर्वोत्तर भारत से एकमात्र ऐसे विद्यार्थी हैं जिनको यह मौका मिला है। उन्होंने इसरो द्वारा MyGov.in पर आयोजित की गई प्रतियोगिता को जीतने में सफलता पायी थी, जिसके बाद उनको यह मौका दिया जा रहा है। यह प्रतियोगिता कक्षा 8 से 10 तक के स्कूली बच्चों के लिए आयोजित की गई थी। इसको लेकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से केंद्रिय सेकंड्री बोर्ड एजुकेशन को लिखा था इस प्रतियोगिता में राज्यों के स्कूल बोर्डों के बच्चों को भी शामिल किया जाए। इसके बाद पहवा ने इसमें भाग लिया और जीतने में सफल रहे।

गौरतलब है थ्क इसरो ने चंद्रयान 2 द्वारा चंद्रमा की खींची गई पहली तस्वीर को जारी किया था। यह तस्वीर 21 अगस्त को चंद्रमा की सतह से 2650 किलोमीटर की ऊंचाई से ली गई थी। चंद्रयान को लेकर उड़ने वाले स्पेसक्राफ्ट को 22 जुलाई को दोपहर 2:43 पर ​श्रीहरिकोटा स्पेस स्टेशन से लॉन्च किया गया थ। अब यह यान चंद्रमान के दक्षिण ध्रुव पर उतरेगा तथा वहां पर पानी, खनिज, भूकंप जैसी चीजों को लेकर अध्ययन करेगा।