मेघालय की साठ सदस्यीय विधानसभा की 59 सीटों पर मतदान के दौरान यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के अध्यक्ष डॉ. डोनकूपर रॉय ने कहा कि हम हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी और गारो नेशनल कौंसिल के साथ मिलकर राज्य की कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकेंगे।

वहीं मेघालय के मुख्यमंत्री डॉ. मुकुल संगमा ने वोट डालने के बाद कहा कि हम लोगों के लिए बेहतर काम करना चाहते हैं। मेरा राज्य के लोगों पर पूरा भरोसा है। मुझे यह भी यकीन है कि लोग कांग्रेस पर विश्वास करते हैं। हमें बहुमत पा लेने की आशा है। हम जादुई आंकड़े को पा लेंगे। डॉ. संगमा ने यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस समान विचारधारा वाले दलों से बातचीत कर रही है। इस पर संगमा ने कहा कि हमारे बहुत दोस्त हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने अपने विधानसभा क्षेत्र अम्पती में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वह सोंगसाक सीट से भी चुनाव लड़ रहे हैं।

मतदान शुरू होने के कुछ ही देर बाद वोट डालने वालों में मेघालय के राज्यपाल गंगा प्रसाद, राज्य के मंत्री अम्पारीन लिंगदोह, नेशनल पीपुल्स पार्टी के प्रमुख सी संगमा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष शिबुन लिंगदोह और यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के अध्यक्ष डॉ डोनकूपर रॉय शामिल हैं। वहीं एनपीपी प्रमुख सी संगमा ने विश्वास व्यक्त किया कि पीपीपी राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेगी। राज्य में सात बजे मतदान शुरू हुआ था। मतदान के लिए 3000 केन्द्र बनाये गये हैं। मतदान केन्द्रों की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किये गये हैं।

राज्य में 1812440 मतदाता हैं। चुनाव में 361 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें 361 प्रत्याशी जिनमें 31 महिलाएं हैं। अस्सी निर्दलीय उम्मीदवार हैं। विलियम नगर सीट पर मतदान रोक दिया गया है। वहां से नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार जोनाथॉन संगमा का निधन हो जाने के कारण चुनाव आयोग ने वहां चुनाव टाल दिया है। आयोग ने अभी तक चुनाव की अगली तिथि घोषित नहीं की है। मतों की गणना तीन मार्च को की जाएगी।