एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेसी एंड एम्पावरमेंट(एडीई) नमक संगठन ने असम के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में मेघालय के छात्रों को प्रवेश देने से इंकार करने पर चिंता व्यक्त की है. 

एसोसिएशन के अनुसार, एनईसी कोटा के माध्यम से स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग द्वारा चयनित राज्य के छात्रों को असम के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों के अधिकारी ने किसी भी वैध कारण बताये एडमिशन देने से मन कर दिया है. जिससे अभिभावक के साथ बच्चो पर भी परेशानियों का पहाड़ टूट पड़ा है. 

असम के मेडिकल कॉलेजों द्वारा इस तरह राज्य के छात्रों को प्रवेश नहीं देने से मेघालय के छात्रों के अभिभावकों ने कहा है कि असम के मेडिकल कॉलेजों के इस कदम को किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा और हम मेघालय सरकार से जल्द से जल्द इस समस्या को दूर करने के लिए आवशयक कदम उठाने का अनुरोध करते हैं. 

संघ ने मेघालय और असम दोनों सरकारों से अपील की कि वे समाधान के साथ आगे आएं और आवश्यक व्यवस्था करें कि छात्र बिना किसी मेडिकल की पढाई कर सके.