यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) के करीब आते ही नेताओं के बिदकने और चिपकने का सिलसिला शुरू हो गया है। ताजा मामले में बहुजन समाज पार्टी (BSP) के 6 बागी विधायक ‘हाथी’ से उतरकर समाजवादी पार्टी (SP) की ‘साइकिल’ चलाने जा रहे हैं। शनिवार को सपा कार्यालय में राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व में बसपा के 6 बागी विधायक सपा की सदस्यता ले लेंगे।

समाजवादी पार्टी (SP) में शामिल होने वाले बागी विधायकों में असलम राइनी (भिनगा-श्रावस्ती), असलम अली चौधरी (ढोलाना-हापुड़), मुजतबा सिद्दीकी (प्रतापपुर-इलाहाबाद), हाकिम लाल बिंद (हांडिया-प्रयागराज), हरगोविंद भार्गव (सिधौली-सीतापुर) और सुषमा पटेल (मुंगरा बादशाहपुर) हैं। याद दिला दें कि पिछले सप्ताह कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक और उनके पुत्र पूर्व विधायक पंकज मलिक ने शुक्रवार को लखनऊ में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के समक्ष समाजवादी पार्टी (SP) की सदस्यता ग्रहण की। इसी क्रम में बसपा (BSP) के ये 6 बागी विधायक कल सपा में शामिल होंगे।

शुक्रवार को सपा में शामिल होने वाले हरेंद्र मलिक पहले भी इस पार्टी में रह चुके हैं। सपा प्रत्याशी के तौर पर वे 1998 और 1999 में मुजफ्फरनगर सीट से चुनाव लड़ चुके हैं। सूत्र बता रहे हैं कि हरेंद्र मलिक के सपा में शामिल होने के बाद पड़ोसी जिलों के कांग्रेस से जुड़े कई अन्य पदाधिकारी भी सपा में शामिल होने का विचार कर रहे हैं। बता दें कि हरेंद्र मलिक और उनके बेटे पंकज मलिक ने अभी हाल ही में कांग्रेस से इस्तीफा दिया था। हरेंद्र मलिक पश्चिमी यूपी के दिग्गज नेताओं में शुमार हैं। उनके बेटे पंकज मलिक भी कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं।