मुस्लिम नेता और पश्चिम बंगाल अल्पसंख्यक यूनाइटेड काउंसिल के उपाध्यक्ष सैयद शाह आतेफ अली कादरी ने बॉलीवुड के मशहूर गायक सोनू निगम की ओर से अजान पर की गई टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ फतवा जारी किया है। कादरी ने इसके साथ ही सोनू को पुराने जूतों की माला पहनाने वाले को 10 लाख रुपए देने का ऐलान भी किया है। कहा, देश से बाहर निकाल देना चाहिए। कादरी का कहना है कि गायक सोनू निगम ने धर्मनिरपेक्ष भारतीय संविधान का अपमान किया है और उन्हें देश से बाहर निकाल दिया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि निगम ने यह सब कुछ केवल पब्लिसिटी पाने के लिए किया है।

गौरतलब है कि गायक सोनू निगम मस्जिदों में होने वाली अजान की वजह से सुबह की नींद में खलल पडऩे से नाराज हो गए थे। उन्होंने इसको लेकर सोशल मीडिया पर ट्वीट किया था। सोनू ने सोमवार सुबह एक के बाद एक कई ट्वीट किए कि, ईश्वर सभी पर कृपा करे। मैं मुस्लिम नहीं हूं और मैं आज अजान से जागा। भारत में कब तक धार्मिक रीतियों को जबरदस्ती ढोना पड़ेगा। इसके बाद से वह विवादों के घेरे में आ गए।

सोनू ने कहा, इस शर्त पर मांगूंगा माफी

दूसरी ओर सोनू निगम ने बीती रात फिर एक ट्वीट किया। सोनू ने लिखा, उन्‍होंने मुस्लिम विरोधी कोई बात नहीं कही है। सोनू ने अपने नए ट्वीट में लिखा कि अगर कोई यह साबित कर दे तो वह माफी मांगने को भी तैयार हैं। उन्होंने ट्वीट किया, प्रिय लोगों, जो भी यह प्रचारित कर रहा है कि मेरे ट्वीट्स मुस्लिम विरोधी हैं वह एक भी जगह ऐसी बता दें जहां मैंने ऐसा किया है, मैं माफी मांग लूंगा। उन्होंने लिखा, जब मैं लाउडस्‍पीकर्स की बात कर रहा हूं तो मैंने मंदिर और गुरुद्वारों के बारे में भी बात की थी। क्‍या यह समझना इतना मुश्किल है?